देश में फैले कोरोना संक्रमण का कहर अब तक जारी है। अस्पतालों में लोग अक्सीजन के लिए तड़प रहे हैं और सरकार चुपचाप तमाशा देखने का काम कर रही है।

सरकार द्वारा इस संदर्भ में भले ही कोई ठोस कदम ना उठाए जा रहे हो। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करवाने के लिए अब एक नेशनल टास्क फोर्स का गठन कर दिया है।

बताया जा रहा है कि यह नेशनल टास्क फाॅर्स देश के अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता और सप्लाई का आकलन करेंगे। इस टास्क फोर्स में 12 सदस्य रखे गए हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि उनके द्वारा गठित की गई टास्क फोर्स आने वाले वक्त में कोरोना महामारी की चुनौतियों का सामना करने के लिए रणनीति प्रदान करेगी।

इस मामले में कांग्रेस नेता अलका लांबा ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट द्वारा उठाए गए कदम की जमकर तारीफ की है।

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने ट्वीट कर लिखा है कि “जो काम मोदी सरकार को करना चाहिए था वह काम SC के जजों द्वारा किया जा रहा है। यूं ही नही झारखंड के मुख्यमंत्री ने कहा था इन्हे तो बस अपने मन_की_बात करनी है”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर हाल ही में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दावा किया कि वह सिर्फ अपने मन की बात करते हैं। उन्होंने फोन पर काम की बात करने की जगह सिर्फ अपने मन की बात कही है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली पीठ द्वारा बनाई गई नेशनल टास्क फाॅर्स में देशभर के कई बड़े अस्पतालों के डॉक्टर और विशेषज्ञ शामिल है।

इस संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट के जजों द्वारा इस टास्क फोर्स के साथ व्यक्तिगत रूप से बातचीत भी की गई है। एक हफ्ते के अंदर ही यह टास्क फोर्स अपना काम शुरू करने वाली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five − one =