बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में इस बार बदलाव की लहर देखने को मिल रही है। बीते 15 साल से राज्य में नीतीश कुमार की सरकार चल रही है। लेकिन अब लोग नीतीश कुमार के कुशासन से तंग आ चुके हैं।

यूं तो बिहार की राजनीति में लालू यादव एक प्रतिष्ठित नाम माने जाते हैं। लेकिन वह इस वक्त जेल में बंद है। राजद प्रमुख की जगह इस बार महागठबंधन की तरफ से उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाया गया है।

चुनाव प्रचार के चलते तेजस्वी यादव हर दिन जनसभाओं को संबोधित कर रहे हैं। उनकी जनसभा में भारी भीड़ भी देखने को मिल रही है। दूसरी तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से नाराज युवाओं ने एनडीए को सीधे तौर पर नकारना शुरू कर दिया है।

सोशल मीडिया पर तेजस्वी यादव की एक जनसभा की वीडियो खूब वायरल हो रही है। जिसमें देखा जा सकता है कि मंच पर जब तेजस्वी यादव जनता को संबोधित कर रहे थे। तो वहां पर हजारों की तादाद में लोग उपस्थित थे। वह तेजस्वी यादव के पक्ष में नारेबाजी भी कर रहे हैं।

इस मामले में गुजरात से विधायक छोटू भाई वसावा ने राजद के समर्थन में ट्वीट किया है।

उन्होंने लिखा है कि “परिधान मंत्री आपके मशीन से छापी हुई 2000 की नोट अब नही चलेगी। अब बिहार के युवाओं ने तय कर लिया है कि अबकी बार मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को बनाना है। RJD की एक तरफा सरकार बनानी है ताकि महागठबंधन से अगर किसी पार्टी के विधायक बिक जाए तो भी आंच न आए।”

गौरतलब है कि हाल ही के वक्त में नीतीश कुमार समेत जदयू और भाजपा के कई नेताओं को युवाओं ने चुनाव प्रचार के दौरान उल्टे पांव खदेड़ दिया है।

वहीं विपक्ष इस चुनाव में नीतीश कुमार के शासनकाल में हुए भ्रष्टाचार और बढ़ रही बेरोजगारी के मुद्दे पर उन्हें घेर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × five =