भारत के सबसे अमीर उद्योगपतियों की लिस्ट में गौतम अडानी का नाम इस वक्त टॉप पर चल रहा है। गौतम अडानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी को इस कड़ी में पूरी टक्कर दे रहे हैं।

हाल ही में जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर उद्योगपतियों की लिस्ट में गौतम अडानी का नाम दूसरे नंबर पर आ पहुंचा है।

गौतम अडानी की बढ़ रही संपत्ति के पीछे उनकी कंपनियों के बढ़ रहे शेयर्स को मुख्य वजह बताया जा रहा है। लेकिन अब अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी के लिए एक बुरी खबर सामने आई है।

खबर के मुताबिक, उनकी कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट देखने को मिली है। बताया जाता है कि सोमवार को शेयर मार्केट खुलने के बाद अडानी ग्रुप की कई कंपनियों के शेयर 5 से लेकर 25 फ़ीसदी तक नीचे आ चुके हैं।

इसके पीछे की वजह यह बताई जा रही है कि एनएसडीएल द्वारा अडानी ग्रुप की कंपनियों में हिस्सेदारी रखने वाले कुछ एफपीआई एकाउंट्स को फ्रीज कर दिया गया है।

दरअसल एनएसडीएल ने तीन विदेशी फंडों के अकाउंट्स को फ्रीज किया है। जिनके पास अडानी ग्रुप की चार कंपनियों में हिस्सेदारी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एनएसडीएल द्वारा जिन अकाउंटस को फ्रीज किया गया है। उनमें Albula Investment Fund, Cresta Fund और APMS Investment Fund का नाम शामिल हैं।

सिक्योरिटी एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया के पास यह फंड विदेशी पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स के तौर पर दर्ज है।

इन फंड्स की अडानी एंटरप्राइजेज में 6.82 फीसदी, अडानी ट्रांसमिशन में 8.03 फीसदी, अडानी टोटल गैस में 5.92 फीसदी और अडानी ग्रीन में 3.58 फीसदी की हिस्सेदारी है।

बताया जाता है कि इंसान जिसने अडानी ग्रुप की कंपनियों में लगभग 6 बिलियन डॉलर का निवेश किया है। लेकिन अब एकाउंट्स फ्रीज हो जाने की वजह से इनका असर अडानी ग्रुप के शेयर्स पर पड़ा है।

इसके अलावा अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी टोटल गैस, अडानी ट्रांसमिशन और अडानी पावर में भारी गिरावट दर्ज की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × three =