पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव भाजपा के लिए साख का सवाल बन चुके हैं। बंगाल विधानसभा चुनाव अब ममता बनाम मोदी हो चुका हैं।

लेकिन चुनाव के दौरान राज्य में भाजपा का बड़े स्तर पर विरोध हो रहा है। जिसको देखते हुए लगता है कि राज्य में ममता बनर्जी का पलड़ा भाजपा से भारी है।

दरअसल राज्य में भाजपा की रैलियों में भीड़ नहीं जुटने की वजह से पार्टी की चिंता बढ़ रही है। इसी कड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की कल झारग्राम रैली भी कैंसिल कर दी गई।

दरअसल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुई थी। जिसे लेकर तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि रैली में भीड़ ना जुटने की वजह से अमित शाह द्वारा इसे कैंसिल कर दिया गया है।

अब इस पर तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी ने चुटकी ली है। उन्होंने कहा है कि “भाजपा के वरिष्ठ नेता की रैली से ज्यादा लोग तो ‘जेसीबी से की जानेवाली खुदाई’ को देखने या किसी दुकान पर चाय की चुस्की लेने के लिए इक्क्ठे हो जाते हैं।”

उन्होंने यह भी कहा है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की झारग्राम रैली पर भाजपा द्वारा तकनीकी कारणों से रद्द होना, वजह बताया गया है।

लेकिन सोशल मीडिया पर रैली की जो तस्वीरें सामने आई है। उसमें बहुत ही कम लोग नजर आ रहे हैं।

आपको बता दें कि भाजपा ने इस मामले में सफाई देते हुए कहा है कि अमित शाह के हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आ जाने की वजह से उनकी रैली रद्द की गई है। जिसके चलते उन्होंने वर्चुअल रैली के जरिए जनता को संबोधित किया।

दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पैर पर चोट लगने के कारण वह व्हीलचेयर के जरिए रैलियां कर रही है। ममता बनर्जी की रैलियों में भारी भीड़ भी जुट रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here