बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा भाजपा का मेनिफेस्टो लांच कर दिया गया है। जिसमें पार्टी द्वारा सबसे बड़ा दावा यह किया गया है कि बिहार के लोगों को फ्री में कोरोना का टीका लगाया जाएगा।

दुनियाभर में फैले कोरोना संक्रमण के बीच इस वक्त हर देश कोरोनावायरस की सुरक्षित वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार कर रहा है।

भारत के प्रधानमंत्री ने बीते दिन जनता के नाम किए संबोधन में कहा है कि कोरोना की वैक्सीन के लिए अभी अगले साल तक इंतज़ार करना पड़ सकता है।

इसी बीच इसी निर्मला सीतारमण के बयान ने सियासी गलियारों में सरगर्मियां तेज कर दी है। इस मुद्दे पर सत्तापक्ष और विपक्षी दलों में एक नई बहस छिड़ गई है।

विपक्षी दलों का कहना है कि भाजपा चुनाव प्रचार में बीमारी के नाम पर लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ कर रही है। इस तरह की राजनीति निंदाजनक है। वोट बटोरने के लिए भाजपा वैक्सीन के नाम का इस्तेमाल कर रही है।

इस मामले में पत्रकार अभिसार शर्मा ने भाजपा पर तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “बिहार के साथ साथ मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीट्स की जनता के लिए भी ये सुविधा सबसे पहले और मुफ्त मौजूद होगी ? चुनाव तो वहां भी हैं ?”

आपको बता दें कि इस बार बिहार में भाजपा और जदयू के नेताओं का जनता द्वारा जमकर विरोध किया जा रहा है।

जिसके चलते भाजपा ने कोरोना वैक्सीन के नाम पर नया दांव खेला है। दरअसल राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विकास के नाम पर लोगों द्वारा सवाल किए जा रहे हैं।

वहीं विपक्षी दलों द्वारा राज्य में बढ़ रही बेरोजगारी और भुखमरी के मुद्दे पर एनडीए को घेरा जा रहा है। माना जा रहा है कि इस बार राज्य में लोग राजद के मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव को तवज्जो दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − 4 =