आज दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल के घर पर आप के सभी विधायकों को मीटिंग के लिए बुलाया गया।

आम आदमी पार्टी का आरोप है कि बीजेपी उनके 40 विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है। जिसके बाद पार्टी ने सभी विधायक को दलीय बैठक में शामिल होने के लिए सीएम आवास बुलाया।

भाजपा द्वारा आप के विधायकों को 20 करोड़ देकर तोड़ने का आरोप लगाने के बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पार्टी के सभी विधायकों को अपने आवास पर तत्काल बैठक करने के लिए बुलाया।

इस दलीय बैठक में आप के 53 विधायकों के शामिल होने की जानकारी पार्टी प्रवक्ता दिलीप पांडेय ने दी है। उन्होंने कहा की बाकी के हमारे 8 विधायक अभी दिल्ली से बाहर हैं।

आम आदमी पार्टी से तिमारपुर के विधायक दिलीप पांडे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “भाजपा आम आदमी पार्टी के लगभग 40 विधायकों को तोड़ने की कोशिश में है।

हर विधायक को 20 करोड़ रुपए का ऑफर किया जा रहा है। हम अपने विधायकों से संपर्क कर रहे हैं, वे कहीं नहीं जा रहे। हमारी एक साथी से बात हुई और बताया कि भाजपा लगभग 40 विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रही है और हर विधायक को 20 करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं।”

बता दें कि भाजपा पर विधायकों की खरीद फ़रोख़्त का यह आरोप पहली दफ़ा नहीं लगा है। बीजेपी कई अन्य राज्यों में ऐसी हरक़त कर चुकी है।

अभी हाल ही में महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार के शिवसेना विधायकों को तोड़कर अपने पाले में ले आकर भाजपा नई शिवसेना के नेतृत्व में सरकार बना चुकी है।

ऐसे ही मध्यप्रदेश, कर्नाटक में बीजेपी ने विधायकों को खरीद फ़रोख़्त कर सरकारें गिरा चुकी है।

दिल्ली में भाजपा द्वारा आप विधायकों को खरीदने की खबरें जब से सामने आयी है। आम आदमी पार्टी बहुत सजग होकर अपने विधायकों की निगरानी में लग गई है।

आप द्वारा ये सवाल किया जा रहा है कि इनके 40 विधायकों को खरीदने के लिए बीजेपी 800 करोड़ रूपये कहाँ से ला रही है? इसकी भी ईडी से जाँच होनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here