उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में जूता बेचने वाले एक मुस्लिम युवक को पुलिस ने जिस तरह से गिरफ्तार कर लिया है उस पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं।

दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा दुकानदार को परेशान करने का वीडियो सामने आने के बाद पीड़ित दुकानदार पर ही कार्यवाई से नाराज लोग सोशल मीडिया पर अपनी तमाम प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

इसी क्रम में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में शोधार्थी अजय कुमार यादव लिखते हैं-

“नीचे तस्वीर में रवींद्र जडेजा जी का जूता है. नवंबर 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेलते हुए उन्होंने ये जूता पहना था.जूते पर राजपूत लिखा है. विडम्बना ये है कि जडेजा ने ASICS कम्पनी का जूता पहन रखा है. यहां ASICS ब्रांड के नाम का अर्थ जान लेते हैं।

ASICS एक लैटिन कहावत Anima Sana in corpore sano का ही संक्षिप्त नाम है. इस लैटिन कहावत का हिन्दी अर्थ होगा कि- ” आप को दुआ करनी चाहिए कि एक स्वस्थ शरीर में एक स्वस्थ दिमाग हो”.

जडेजा के पास एक स्वस्थ शरीर तो है लेकिन एक स्वस्थ दिमाग नहीं है भले ही वह ASICS ब्रांड का जूता पहनते हों। अपने जूते पर राजपूत लिखवा कर उन्होंने अपने दिमागी जाहिलियत का परिचय दे ही दिया।

जडेजा योद्धा की तरह लड़कर खेलने वाले एक जुझारू क्रिकेटर हैं, लेकिन उनके अन्दर राजपूत अहंकार भी कूट कूट कर भरा है। वह अपना कथित राजपूत प्राइड हर जगह दिखाते रहते हैं, यहां तक कि जूते को भी नहीं छोड़ते।

एक फेसबुक पोस्ट से पता चला है कि यूपी के बुलंदशहर में नासिर नाम का मुस्लिम दुकानदार जूता बेच रहा था। उन जूतों के सोल पर ठाकुर लिखा था। इससे कुछ लोगों की कथित भावनाएं आहत हो गईं। परिणास्वरूप धर्म और जाति की शान और स्वाभिमान की रक्षा हेतु बुलंदशहर बजरंग दल के जिला संयोजक विशाल चौहान ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।

पुलिस ने नासिर पर आईपीसी की 153A, 323C और 504 जैसी धाराएं लगा दी। नासिर कहता रहा की ये जूते मैने नहीं बनाएं, मैं तो इन्हें बस बेचता हूं।

लेकिन ये तो ठहरी योगी महाराज की पुलिस, उसको तर्क से क्या लेना देना। राजपूत और ठाकुर ब्रांड की जूता और जूती बनाने वाली कई कंपनियां हैं, क्या उनसे विशाल चौहान जैसे बजरंगियों की भावनाएं नहीं आहत होती??”

दरअसल नासिर नाम के युवक की गिरफ्तारी करने के बाद पुलिस ने जिस तरह से हास्यास्पद बयान दिया है उसपर भले ही मेनस्ट्रीम कहे जाने वाला मीडिया सवाल न कर रहा हो मगर सोशल मीडिया पर जमकर सवाल हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

7 + 17 =