• 1.4K
    Shares

बीजेपी हमेशा कांग्रेस को 84 के दंगों के लिए घेरती हुई नज़र आती है। पीएम मोदी खुद भी कांग्रेस से ये सवाल करते रहते है कि कांग्रेस सिख-दंगा कराने वालों को पार्टी और सरकार में अहम पद देती है। मगर BJP ने भी अब वही कारनामा किया जिसका आरोप वो खुद कांग्रेस पर लगाती रही है।

मालेगांव बम धमाकों की मुख्य आरोपियों में शामिल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को BJP ने मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की लोकसभा सीट से मैदान में उतारा है। अब प्रज्ञा ठाकुर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह चुनौती देती नजर आयेंगी।

साध्वी प्रज्ञा ने थामा BJP का हाथ, प्रशांत बोले- भाजपा ने एक आतंकी को अपना उम्मीदवार बनाया

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर साल 2008 के मालेगांव ब्लास्ट केस की मुख्य आरोपी रही हैं। वह इस केस में 9 सालों तक जेल में भी रही हैं। फिलहाल वो जमानत पर हैं। इस धमाके में 7 लोगों की मौत हो गई थी और करीब 80 लोग जख्मी हुए थे।

अब ऐसे में सोशल मीडिया पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के उम्मीदवार घोषित होने पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी है। सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि बीजेपी ने एक आतंकवादी को अपना प्रत्याशी बनाया है।

रामदेव बोले- मोदी के हाथों में देश सुरक्षित है, लोग बोले- देश नहीं बाबा का ‘कारोबार’ सुरक्षित है

वही एक यूज़र ने यहां तक लिख दिया कि अगर आज कस़ाब जिंदा होता उसको भी भाजपा टिकट देकर चुनाव मैदान में उतार देती।

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर कई तरह के आरोप लगे हुए है। उनपर हिंदू आतंकवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगा। वहीं साल 2007 में आरएसएस प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड में भी आरोपी बनाई गईं मगर बाद में देवास कोर्ट ने उन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया।

इतिहास में पोस्ट ग्रैजुएट प्रज्ञा का शुरुआत से ही दक्षिणपंथी संगठनों की तरफ रुझान था। वह आरएसएस की छात्र इकाई एबीवीपी की सक्रिय सदस्य भी रह चुकी हैं।