केरल में बाढ़ और बारिश का कहर जारी है। ज़ोरदार बारिश से अब तक तकरीबन 370 लोगों की जान जा चुकी है। बारिश की वजह से राज्य में अबतक 8000 करोड़ से ज़्यादा का नुकसान हो चुका है। राहत कार्य के लिए सेना, नौसेना, वायुसेना, इंडियन कोस्टगार्ड और NDRF के जवान लगे हुए हैं।

केरल के इस मुश्किल वक्त में देश और दुनियाभर से लोग मदद के लिए आगे आए हैं। सेलिब्रिटीज़ से लेकर आम आदमी तक बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए अपना योगदान दे रहे हैं। लेकिन केंद्र सरकार से राज्य को उतनी सहायता राशि नहीं मिली है, जितने की राज्य सरकार ने उससे मांग की थी।

दरअसल, मुख्यमंत्री पी विजयन ने केन्द्र से दो हजार करोड़ रूपये की आपात सहायता राशि की मांग की थी। उन्होंने बताया था कि बाढ़ के चलते राज्य में 19 हजार 512 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। लेकिन केंद्र ने राज्य को 2 हज़ार करोड़ देने के बजाए महज़ 500 करोड़ रूपये की अंतरिम राहत देने की घोषणा की।

केंद्र सरकार द्वारा दी गई इस राशि को लेकर सोशल मीडिया पर तंज़ कसा जा रहा है। कनिष्क रंजन नाम के एक ट्विटर यूज़र ने लिखा, “मोदी से मेरी रिक्वेस्ट है जो मेरे हिस्से के 15 लाख है वो केरला बाढ़ पीड़ित के लिए दान कर दो!”

ग़ौरतलब है कि पीएम मोदी ने 2014 लोकसभा चुनावों से पहले जनता से वादा किया था कि अगर केंद्र में बीजेपी की सरकार बनती है तो वह देश में काला धन वापस लाएगी, जिससे देश के हर नागरिक को 15 लाख का फायदा होगा।

बता दें कि केरल पिछले 100 सालों की सबसे भयंकर बाढ़ में डूबा हुआ है। अब तक इस विभीषिका में मरने वालों की संख्या तकरीबन 370 हो चुकी है। 8 अगस्त से अब तक यानी महज 12 दिनों में कुल 180 लोग बाढ़ के चलते जान गंवा चुके हैं।

बाढ़ के चलते सूबे में करीब 2.23 लाख लोग और 50,000 परिवार बेघर हो गए हैं। इस तबाही से फसल और संपत्तियों समेत कुल 8 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। सूबे में अब भी खतरा टला नहीं है क्योंकि राज्य की लगभग सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।