बिहार विधानसभा चुनाव के आखिरी चरण का चुनाव प्रचार जारी है। इस दौरान जनसभा कर रहे राहुल गांधी ने बिहारीगंज विधानसभा क्षेत्र में एक ऐसी भावुक अपील की जिसकी चर्चा चारों ओर हो रही है।

दरअसल उन्होंने वरिष्ठ राजनेता शरद यादव को अपना गुरु बताया और उनकी बेटी को अपनी बहन। इसके साथ ही कहा कि उनके जीत की गारंटी चाहिए।

इस अपील पर भावुक प्रतिक्रिया देते हुए सुभाषिनी यादव ने फेसबुक पर लिखा-

आज राहुल गांधी जी ने मंच से अपने उद्बोधन के आखिरी क्षणों में पिताजी शरद यादव से जुड़ा एक किस्सा साझा कर न जाने कितनी आंखों को नम कर दिया, वो लम्हा मेरी जिंदगी के सबसे भावनात्मक लम्हों में से एक है,

श्री राहुल गांधी जी ने कहा की आज जब मैं हेलीकॉप्टर से उतरा और मैं यहाँ स्टेज पर आ रहा था तब मुझे शरद यादव जी की याद आयी और मुझे दुख हुआ। खुशी का दिन है।

उनकी बेटी चुनाव लड़ रही हैं मगर दिल में दुख है कि शरद यादव जी बीमार हैं और वो आज यहाँ नहीं आ पाए।

शरद यादव जी की हिस्ट्री, उनकी राजनीति गरीबों की राजनीति है। और पहले शरद यादव जी और कांग्रेस के बीच में लड़ाई होती थी। कुछ साल पहले आंध्रप्रदेश में एक प्रोग्राम हुआ उसमें मैं भी गया और शरद यादव जी भी थे और हमारी मुलाकात हुई,

शरद यादव जी का मैंने भाषण सुना स्टेज पर मिला और जब हम वापस जा रहे थे तो काफी भीड़ थी, धक्का-मुक्की चल रही थी। मैंने देखा कि शरद यादव जी खड़े थे तो मैंने उनसे कहा कि आप मेरे साथ चलिए और अपनी गाड़ी में बिठा लिया।

2 घन्टे का रास्ता था। और मैं आपको बताना चाहता हूँ कि दो घन्टे में शरद यादव जी ने मुझे सिखाया हिंदुस्तान की राजनीति के बारे में शायद उससे ज्यादा किसी ने मुझे नहीं सिखाया।

मैंने उनकी बेटी से कहा कि देखो तुम्हारे पिता आज अस्पताल में हैं उन्होंने मुझे बहुत सिखाया। एक प्रकार से हमारे इतिहास में वो मेरे गुरु हैं।

और अगर वो मेरे गुरु हैं तो तुम मेरी बहन हो और तुम्हारी रक्षा करना मेरी जिम्मेदारी है। मैंने ये बात बिहार चुनाव में किसी भी भाषण में नहीं कही जो मैं कहने जा रहा हूँ।

मैं आपसे गारंटी चाहता हूँ कि शरद जी की बेटी को आप चुनाव जिताओगे। मैं अपने लिए नहीं कह रहा हूँ। मैं आपके लिए और शरद यादव जी जो आपके नेता हैं उनके लिए कह रहा हूँ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 − 12 =