• 11.3K
    Shares

मितरों! एक बार और मौका दे दो, एक बार और मौका दे दो, फिर तुम्हारा ऐसा तेल निकालेंगे कि नोन-तेल खरीदने लायक भी नहीं बचोगेे.

डीजल के साथ 70 साल से जो अन्याय हो रहा था, हमारी सरकार ने उसे सुधारा है. हम डीजल को पेट्रोल की बराबरी पर लाए हैं. अब न पेट्रोल आगे है, न डीजल पीछे है. अब पेट्रोल भी 80 रुपये में है और डीजल भी 80 रुपये में है.

सत्तर सालों में ऐसा पहली बार हुआ है कि तेल का बेस प्राइस 22 रुपये हो और उसे 80 रुपये में बेचा जा रहा हो. 70 सालों में पहली बार, हमारी सरकार ने यह कारनामा करके दिखा दिया है.

यह मां बेटे की पार्टी कभी ऐसा नहीं कर पाई. हमने पिछले 23 दिनों में डीजल का दाम 11.23 रुपये, और पेट्रोल का दाम 9.17 रुपये प्रति लीटर बढ़ा दिया है.

हमने नारा दिया था कि ‘बहुत हुई महंगाई की मार, अबकी बार मोदी सरकार…’ छह सालों की अथक मेहनत के बाद अब यह नारा बदलने का समय आ गया है. ‘बहुत हुआ महंगाई पर वार, अबकी डीजल अस्सी पार’.

अब आप सीना तानकर कह सकते हैं: ‘यह देखो महंगाई का खेल, निकल गया जनता का तेल’.

(ये लेख पत्रकार कृष्णकांत के फेसबुक वॉल से साभार लिया गया है)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here