narendra modi
Narendra Modi

कोरोना से 90 मौतें, पैदल चलने और भूख से 50 से ज्यादा मौतें, करोड़ों लोगों को खाने का संकट। आज जो हुआ है उसे मीडिया दीवाली लिख रहा है। क्योंकि यह दीवाली ही थी।

गोले-पटाखे छूटे, थाली बजी, सीटी बजी, गाना बजा, शोर मचा। यह मौतों पर अश्लीलता का नंगा नाच था। पिछली बार ताली वाले दिन हमने भी ढोल बजाई थी। इस बार लानत भेज रहा हूं।

देश की एकजुटता प्रदर्शित करने का अर्थ यह नहीं होता कि एक तरफ लोगों की मौत होती रहे और आप फर्जी किस्म का उत्सव मनाएं।

जो डॉक्टर महीने भर से चिल्ला रहे हैं कि उनके पास मास्क और प्रोटेक्टिव गियर तक नहीं हैं, उनकी बात नहीं सुनकर आप एकजुटता किसके लिए प्रदर्शित कर रहे हैं?

महामारी को भी चुनाव प्रचार बना दिया गया है। एक बार सोचिए कि आपके घर में किसी की मौत हुई होती तो आप पटाखे फोड़ते क्या?

  • कृष्णकांत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here