हिमांशु कुमार

मुसलमानों की सबसे ज़्यादा हत्याएं किसने करीं

मुसलमानों ने ही

पूरे मिडिल ईस्ट की हालत देख लीजिये

मैंने वीडिओ देखे हैं एक फिरके के मुसलमान दूसरे फ़िरके के मुसलमानों की हत्याएं कर रहे हैं

और हत्याएं करते समय अल्लाह हू अकबर भी बोल रहे हैं

और हिन्दुओं की सबसे ज़्यादा हत्याएं किसने करीं हैं

बेशक़ हिन्दुओं ने ही

शैव और वैष्णवों के खूनी संघर्ष सदियों तक चलते रहे

दलितों की सवर्णों द्वारा हत्याएं बस्तियां जलाना महिलाओं से बलात्कार सदियों से बिना रुके चल रहा है

आज जो हिन्दू भाजपा के वोट के लिए भड़काई गई तड़ी में फूल कर मुसलमानों को मार रहे हैं

कल यही हिन्दू गुंडे कमज़ोर हिन्दुओं को मारेंगे

अफगानिस्तान में अमेरिका ने अपने फायदे के लिए कट्टरपंथी तालिबान खड़े किये

तालिबान ने इस्लाम के राज के नाम पर औरतों को मारा, पर्दा प्रथा वापिस लाये, महिलाओं की शिक्षा खत्म करी

आपकी कट्टरता आपको वहशी गुंडे में बदल देगी

फिर आपका दोबार समझदार और दयालू बनना असम्भव हो जाता है

होना तो यह चाहिए था कि नए ज़माने में हमारे युवा अधिक वैज्ञानिक समझ वाले बनते

लेकिन कहीं युवा रोज़गार या महंगी शिक्षा का ना सवाल उठा दे

इसलिए युवा के सामने एक दुश्मन का चित्र लगा कर उससे लड़ने के काम में लगा दिया गया है

शिक्षा पूंजीपतियों ने महंगी कर दी है,

मुनाफा कमाने के लिए पूंजीपति रोज़गार कम करते जा रहे हैं,

पूंजीपतियों ने बैंक खाली कर दिए हैं

तो अब नौजवान के लिए ना रोज़गार है ना शिक्षा है ना बैंक है ना सरकार है

अब नौजवान भडक सकता है

इसलिए नौजवान को सुला कर रखने के लिए उसे धर्म की अफीम पिला कर सुला दिया गया है

अब यह नौजवान को समझना है कि उसका फायदा रोज़गार और शिक्षा के लिए संघर्ष में है

या अकेले कमज़ोर बूढ़े मुसलमानों को मारने में है

(सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार की फेसबुक वॉल Tabrez Ansariसे साभार )