corona mask
Corona Mask

दुनिया ट्विटर पर हिंदू मुसलमान खेलने से नहीं चलती है. ऐसे लोग मानवता पर धब्बा हैं. उस धब्बे को साफ करने वाले लोग भी हैं इस दुनिया में, जिनसे यह दुनिया चलती है.

राजस्थान के अलवर की ये दो बेटियां घर पर मास्क बनाती हैं और उन्हें ले जाकर लोगों में नि:शुल्क बांटती हैं. जिन्नी का कहना है कि देश पर संकट है. इस समय जरूरतमंद लोगों की सेवा करना ही मानवता है.

जिन्नी अपने खुद के खर्चे पर मास्क बना रही हैं और उन्हें घर घर बांट रही हैं, साथ में कोरोना के बारे में लोगों को जागरूक कर रही हैं. वे देर रात तक मास्क बनाती हैं और सबुह जाकर लोगों में बांट देती हैं.

अलवर की ही प्रियंका नरूका भी यही काम कर रही हैं. नरूका का कहना है कि मास्क की कीमत ज्यादा है, गांव के लोग उसका उपयोग नहीं कर पाते. प्रियंका नरूका के पिता भी उनकी मदद कर रहे हैं. वे फैशन डिजायनिंग में कई छोटे मोटे पुरस्कार जीत चुकी हैं, अब लोगों का दिल जीत रही हैं. इसमें उनका परिवार भी उनकी मदद कर रहा है.

हिंदू मुसलमान करने वाले अमानुषों! सुधर जाओ, वरना तुमको चिंदी भर का कोरोना लील जाएगा.

  • कृष्णकांत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here