दिलीप मंडल

भारत में प्लेन हाइजैक की कुल सात घटनाएं हुईं हैं।

इसमें से छह घटनाएं तक हुईं जब केंद्र में कमजोर सरकारें थीं। उन सभी मामलों में आतंकवादी या तो मारे गए या फिर उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया। सभी मामलों में यात्रियों को रिहा करा लिया गया।

सिर्फ एक मामले में जब देश में मजबूत देशभक्त BJP के सरकार थी और अजित डोभाल प्रमुख पद पर थे, तब सरकार ने देश के सबसे बड़े दुश्मनों को छोड़कर यात्रियों की रिहाई कराई। सबसे शर्मनाक बात है कि उसे छोड़ने देश के विदेश मंत्री खुद गए।

1. 30 जनवरी, 1971- इंडियन एयरलाइंस श्रीनगर- जम्मू विमान अपहरण. लाहौर में सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

2. 29 सितंबर, 1981- इंडियन एयरलाइंस का श्रीनगर-दिल्ली विमान, लाहौर में सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

3. 22 अगस्त, 1982- नई दिल्ली से मुंबई फ्लाइट. आतंकवादी मारा गया। सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

4. 6 जुलाई, 1984- श्रीनगर, दिल्ली फ्लाइट- सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

5. 24 अगस्त, 1984- चंडीगढ़ श्रीनगर फ्लाइट, सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

6. 24 अप्रैल 1993- श्रीनगर दिल्ली फ्लाइट, आतंकवादी मारा गया, सभी यात्री छुड़ा लिए गए।

7. दिसंबर 24, 1999- देश की सबसे शर्मनाक घटना. BJP सरकार ने देश के सबसे बड़े दुश्मन को कंधार पहुंचाया।

(ये लेख वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल की फेसबुक से लिया गया है।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × three =