alka lamba
Alka Lamba
  • 316.8K
    Shares

पालघर लिंचिंग केस को सांप्रदायिक रंग देने और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करने के मामले में रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी फंसते नजर आ रहे हैं। कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उनके ख़िलाफ़ मैदान में उतर आए हैं और उन्हें सजा दिए जाने की मांग कर रहे हैं।

अब कांग्रेस नेता अलका लांबा ने अर्णब गोस्वामी पर हमला करते हुए लिखा- अगर #ArnabGoswami को साम्प्रदायिक हिंसा भड़काने और काँग्रेस अध्यक्षा श्रीमती सोनिया गांधी जी को लेकर की गई टिप्पणी पर #गिरफ्तार नहीं किया जाता, तो भारतीय युवा काँग्रेस के कार्यकर्ताओं को बिना सोचे सड़कों पर उतर जाना चाहिए, वर्ना #करोना से पहले यह नफ़रत कर ज़हर देश को मार डालेगा

दरअसल, अर्णब गोस्वामी ने बीते कल अपने शो ‘पूछता है भारत’ में पालघर लिंचिग मामले को उठाया था। इस दौरान उन्होंने लगातार कई भड़काऊ सवाल पूछे। उन्होंने पूछा कि अगर संतों की जगह कोई मोलवी या पादरी मारा जाता तो क्या इटली वाली सोनिया गांधी चुप रहतीं।

अर्णब ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर अमर्यादित टिप्पणी करते हुए कहा कि सोनिया गांधी पालघर की घटना की रिपोर्ट इटली भेजेगी और कहेगी कि जहां उसकी सरकार है वहां उसने संतों को मरवा दिया। इसपर उसे इटली से शाबाशी मिलेगी।

अर्णब यहीं नहीं रुके, इसके बाद उन्होंने शो में मौजूद हिन्दू पनेलिस्ट्स को भी सोनिया गांधी के खिलाफ भड़काने की कोशिश की। उन्होंने पूछा कि क्या अब हिन्दू इस तरह की चीजों को बर्दाश्त करेगा? क्या अब हिन्दू ख़ामोश रहेगा? जिसपर पैनलिस्ट ने कहा कि अब हिन्दू ख़ामोश नहीं रहेगा। हिन्दू अब अपनी आवाज़ उठाएगा।

बता दें कि अर्णब गोस्वामी के ख़िलाफ़ एक शो को लेकर छत्तीसगढ़ में 12 शिकायतें दर्ज कराई गई हैं। उनपर आरोप है कि उन्होंने अपने शो में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के कोरोना को लेकर दिए बयान को तोड़ मरोड़कर पेश किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here