उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में विरोध प्रदर्शन करने आए किसानों को गाड़ी से रौंदकर मार डाला गया।

किसानों को रौंदकर मारने का आरोप स्थानीय भाजपा सांसद व मोदी सरकार में मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर लग रहा है।

किसानों ने सांसद के बेटे पर गाड़ी चढ़ा देने का आरोप लगाया है। इस दर्दनाक घटना में 8 किसानों के मौत की खबर सामने आ रही हैं। दर्जनों किसान बुरी तरह घायल हो गए हैं।

इस घटना के बाद पूरे देश में किसानों में रोष फैल गया है। पूरे विपक्ष ने इसकी कड़ी निंदा की है।

वहीं एनडीटीवी पत्रकार रवीश कुमार ने भी इस घटना पर लगातार दो ट्वीट किए हैं।

उन्होंने मंत्री की भाषा और गाड़ी चढ़ा देने पर सवाल खड़े किए हैं।

पहले ट्वीट में लिखा है कि, पहले किसानों के रास्ते में कीलें गाड़ दी गईं और अब किसानों पर गाड़ी चलवा दी गई। मामले को बराबर करने के लिए गोदी मीडिया नाम का रोड रोलर चलवा दिया जाएगा।

विपक्ष को रोकने का फ़ैसला भी आता ही होगा। किसानों को निकालने की बात कर मंत्री कैसा देश बनाना चाहते हैं?

 

दूसरा ट्वीट

लोकतंत्र की माँ भारत में किस तंत्र के प्रभाव में किसानों पर गाड़ी चलाई जा रही है? गोदी मीडिया की हिंसक भाषा की गाड़ी रोज़ किसानों को कुचलती है।

सर फोड़ने की भाषा अफ़सर की और देख लेने की भाषा मंत्री की। हिंसा सोच से भाषा में और भाषा से कार्य में आ जाती है। हिंसा की भाषा से बचिए।

इस घटना पर भारतीय मीडिया अपना फिर से शर्मनाक रोल निभाएगी। विपक्ष को कठघरे में खड़ा करके सत्ता को बचाने का काम करेगी।

आपको बता दें कि, यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी हरियाणा में किसानों पर बर्बर कार्रवाई हो चुकी है। पिछले दस महीनों से किसान देशभर में धरना दे रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 2 =