मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान नेता राकेश सिंह टिकैत ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ़ अर्नब गोस्वामी को चुनौती दी है। उन्होंने कहा कि वह किसानों के मुद्दे पर अर्नब की आंख में आंख डालकर बात करना चाहते हैं।

टिकैत ने अर्नब को आड़े हाथों लेते हुए कहा, “अर्नब गोस्वामी ने टीआरपी के लिए रिश्वत दी। किसानों के खिलाफ अगर कुछ बोला तो उसके चैनल में जाना पड़ेगा। वह मुझे यहीं बैठाता है। मुझे रूबरू होना है”।

इस दौरान पत्रकारों ने टिकैत से पूछा कि क्या वो अर्नब को डांटना चाहेंगे। इसपर उन्होंने कहा, “वो दिखते तो हैं नहीं ऐसे डाटने का क्या मतलब। आमने-सामने ही बात होगी। हम आंख में आंख डालकर बात करेंगे”।

किसान नेताओं को एनआईए का नोटिस भेजे जाने पर टिकैत ने कहा कि वह भी एनआईए के नोटिस का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि एजेंसियां सरकार के लिए काम कर रही हैं।

टिकैत ने कहा कि ट्रैक्टर रैली किसानों की शोभा है, कोई ग़लत काम नहीं है। किसान जहां जाना चाहता है, उन्हें कोई रोक नहीं सकता। सरकार यहां लगी है और चीन अरुणाचल में घर बना रहा है”।

टिकैत ने कहा कि किसानों के मुद्दे पर जिस मंत्री से बात हो रही है, उनके पास पॉवर ही नहीं है। मंत्री जी हर बात पर पूछ के आते हैं। यह नहीं पता कि अमित शाह जी से पूछते हैं या मोदी जी से।

उन्होंने कहा, अगर किसी भी मंत्री के विभाग का कोई फैसला हो रहा है तो उसको पॉवर भी मिलनी चाहिए। विभाग में पॉलिसी बन जाती है और मंत्री को पता ही नहीं होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seven − 4 =