उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनाव को लेकर संयुक्त किसान मोर्चा ने किसानों से अपील किया है कि भाजपा को सजा देने का वक्त आ गया है।

भारतीय जनता पार्टी को किसान विरोधी संज्ञा देकर संयुक्त किसान मोर्चा ने सभी किसानों से अपील करते हुए एक पर्चा जारी किया है जिसमें भाजपा को किसान विरोधी कहा गया है।

साथ ही विधानसभा चुनावों में भाजपा को पांचों राज्यों में सत्ता से बेदखल करने की अपील को गई है।

जारी हुए पर्चे में भाजपा को किसान विरोधी बताकर बहुत सारी बातें लिखी गई हैं जिसमें प्रमुखता से कहा गया है कि किसानों को अपनी फसल और नस्ल बचानी है तो भाजपा को सत्ता से बेदखल कर सबक सिखाना होगा।

संयुक्त किसान मोर्चा के पर्चे में भाजपा पर आरोप लगाते हुए लिखा गया है कि जब देश के किसान दिल्ली बार्डरों पर अपनी मांगों को लेकर बैठे थे तो यही भाजपाइयों ने किसानों को देशद्रोही, आतंकवादी और दलाल कहकर हमको अपमानित किया था।

साथ ही पर्चे में कहा गया है कि भाजपा ने किसानों के लिए जो वादा किया था कि गन्ने का भुगतान चौदह दिनों में होगा जबकि सालों से किसानों को भुगतान नहीं किया गया,

किसानों को सस्ती बिजली देने की बात कही गई थी जबकि आज उत्तर प्रदेश में सबसे महंगी बिजली किसानों को मिल रही है।

भाजपा ने वादा किया था कि गोवंश की सुरक्षा की जायेगी लेकिन आज छुट्टे जानवरों से किसानों का बेहाल है। किसानों के दाना-दाना खरीदने की बात कही गई थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ है।

भाजपा ने कहा था गुंडागर्दी खत्म की जायेगी लेकिन भाजपा मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे ने निहत्थे आंदोलनकारियों पर गाड़ी चढ़ा दी जिसमें कई किसान समेत एक पत्रकार की मौत हो गई और जांच में बताया गया कि ये घटना साजिश के तहत की गई है। लेकिन भाजपा वोट की लालच में मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त नहीं कर रही है।

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने ट्वीट कर ये पर्चा शेयर करते हुए लिखा कि

संयुक्त किसान मोर्चा ने उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड की जनता के नाम अपील जारी कर कहा सरकार से सवाल करें। संयुक्त किसान मोर्चा का राष्ट्रीय नेतृत्व यूपी के नौ शहरों में प्रेस वार्ता करेगा।

बता दें कि संयुक्त किसान मोर्चा ने खुले तौर पर किसी राजनैतिक पार्टी के समर्थन की बात नहीं की है लेकिन विधानसभा चुनाव में साफतौर से भाजपा को सत्ता से बेदखल करने की किसानों से अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × five =