बीते साल से पंजाब और हरियाणा की सीमाओं पर किसान संगठनों का आंदोलन जोरों शोरों से चल रहा है।

इसके अलावा पंजाब और हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का खुलेआम विरोध भी किया जा रहा है। यहां तक कि दोनों राज्यों के कई गांवों में भाजपा नेताओं की एंट्री पर भी बैन लगाया गया है।

इसी बीच खबर सामने आई है कि हरियाणा के करनाल में आज मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भाजपा के 6 सांसदों, 12 विधायकों और पूर्व विधायकों के साथ-साथ लोकसभा और विधानसभा चुनाव लड़ चुके उम्मीदवारों के साथ भाजपा की प्रदेश स्तरीय बैठक में पहुंचे थे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर समेत भाजपा नेताओं के विरोध में किसानों ने आज नेशनल हाईवे 44 पर जाम लगाया था।

उन्होंने करनाल के बस ताड़ा टोल प्लाजा पर नारेबाजी कर भाजपा नेताओं को काले झंडे दिखाएं।

बता दें, शुक्रवार शाम को ही किसान संगठनों ने वीडियो संदेश के जरिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और भाजपा नेताओं की बैठक का विरोध करने का ऐलान कर दिया था। आज हरियाणा पुलिस ने विरोध कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज किया है।

इन तस्वीरों को ट्वीट करते हुए स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने हरियाणा पुलिस और भाजपा पर हमला बोला है।

उन्होंने लिखा है कि हरियाणा के करनाल में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और भाजपा नेताओं का विरोध कर रहे किसानों पर बर्बर लाठीचार्ज किया गया है। ये हरियाणा पुलिस का असली चेहरा है।

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने लिखा- इनका कसूर बस इतना सा है कि इन्हें लोकतंत्र पर विश्वास है। जो किसान अपने पसीने से धरा सींच देश का पालन पोषण करता है, आज उसके लहू से धरती लाल है। वाह सरकार, आपकी अदा भी कमाल है।

इस बर्बर कार्रवाई में कई किसान बुरी तरह से घायल हुए हैं। हरियाणा पुलिस द्वारा किसानों पर किए गए इस बर्बर कार्रवाई की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसमें देखा जा सकता है कि किसान बुरी तरह लहू-लुहान हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले भी हरियाणा पुलिस द्वारा किसान आंदोलन के दौरान प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले बरसाए गए थे और लाठीचार्ज किया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 3 =