देश में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। जिसके चलते कई राज्यों में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू लगाया जा चुका है।

माना जा रहा है कि अगर इसी तरह से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते गए तो देश में चुनाव खत्म होने के बाद मोदी सरकार द्वारा लॉकडाउन लगाने पर विचार किया जा सकता है।

भारत में कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों ने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। देश में एक दिन में एक लाख से ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं। इसके साथ ही 1 दिन के अंदर 630 लोगों की जान जा चुकी है।

इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत का भी बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि देश में चल रहा किसान आंदोलन किसी भी हालात में नहीं रुकेगा। यह चलता ही रहेगा।

इस संदर्भ में राकेश टिकैत ने ट्वीट कर लिखा है कि “पुनः लॉकडाउन की तैयारी है। आंदोलन लॉकडाउन से समाप्त नहीं होगा। चाहे कोरोना आये या इससे भी बड़ा कुछ और आये।’

इसके साथ ही राकेश टिकैत ने एक और ट्वीट भी किया है। जिसके जरिए उन्होंने मोदी सरकार पर देश के गरीब और किसानों को बर्बाद करने के गंभीर आरोप लगाए हैं।

राकेश टिकैत ने लिखा है कि मोदी सरकार ने हमारी हर एक कोशिश को छलनी कर दिया है । देश के अमीर किसान और अमीर हो रहे हैं और गरीब किसान गरीब हो चुके हैं।

अब यह वक्त है कि हम सभी को एक साथ खड़े होकर सरकार के खिलाफ लड़ना होगा नहीं तो बहुत ही देर हो जाएगी।

गौरतलब है कि इस वक्त देश में चल रहे चुनावों के तहत राजनीतिक दलों द्वारा बढ़-चढ़कर चुनावी रैलियां और रोड शो किए जा रहे हैं। जिसमें भारी तादाद में लोगों की भीड़ इकट्ठा की जा रही है।

चुनावों के दौरान कोरोना संक्रमण से जुड़े नियमों को खुलेआम तोड़ा जा रहा है। अपने राजनीतिक फायदे के लिए मोदी सरकार लोगों की जान दांव पर लगा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 5 =