दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को बुलंद करने के लिए उत्तर प्रदेश और हरियाणा में किसानों की महापंचायत का आयोजन किया जा रहा है।

इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ कड़े तेवर दिखाए हैं। उन्होंने मुजफ्फरनगर के सिसोली में एक किसान पंचायत को संबोधित करते हुए लोगों को एक फरमान जारी किया है।

किसान नेता नरेश टिकैत ने इस दौरान लोगों से कहा है कि भारतीय जनता पार्टी से किसी भी तरह का रिश्ता ना रखा जाए।

किसान आंदोलन के समर्थन में उन्होंने भारतीय किसान यूनियन के सभी कार्यकर्ताओं को फरमान सुनाते हुए कहा है कि भाजपा के प्रतिनिधि होना तो विवाह समारोह का न्योता दिया जाए और ना ही किसी के निधन की तेरहवीं में शामिल होने दिया जाए।

अगर कोई भी ऐसा करता है तो उसे दंड दिया जाएगा। बताया जाता है कि अगर कोई ऐसा करता है तो दंड स्वरूप नरेश टिकैत ने भारतीय किसान यूनियन से जुड़े लोगों को 100 सदस्यों के लिए भोजन का प्रबंध करने की बात कही है।

बता दें कि मुजफ्फरनगर के सिसौली कस्बे में हुई इस किसान पंचायत में गांव के किसान एकजुट हुए थे।

गौरतलब है कि 26 जनवरी को दिल्ली में घटी घटना के बाद उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय लोक दल द्वारा के किसान महापंचायतों का आयोजन किया गया है।

माना जा रहा है कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की मुसीबत बढ़ने वाली है। क्योंकि राज्य में अब किसान आंदोलन का समर्थन बड़े स्तर पर हो रहा है।

दूसरी तरफ प्रदेश के गन्ना किसान भी योगी सरकार के शासनकाल में काफी परेशान हैं। जिन्होंने भाजपा पर गन्ने की फसल के दाम कम करने और पिछला बकाया ना भुगताने के आरोप भी लगाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × one =