• 10
    Shares

उत्तरप्रदेश उपचुनाव में बसपा-सपा गठबंधन की जीत के बाद आज बसपा अध्यक्ष मायावती ने चंडीगढ़ में रैली को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।

बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम की जयंती पर चंडीगढ़ में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने कहा, “बीजेपी हमेशा हवा-हवाई वादे और खोखले वादे करके पिछड़े वर्ग का वोट छीनना चाहती है।

उसके राज्य में गरीबों, कमजोर वर्ग, मुस्लिम, अल्पसंख्यक और किसानों का हर स्तर पर शोषण हुआ है।”

मायावती ने अपने संसद पद से इस्तीफा देने की बात पर भाजपा पर आरोप लगाते हुए बताया कि, सहारनपुर में हुए दंगे में बीजेपी की साजिश थी और जब ये बात उन्होंने राज्यसभा में उठाने की कोशिश की तो उन्हें बोलने नहीं दिया गया। इस वजह से उन्होंने 18 जुलाई 2017 को सांसद पद से इस्तीफा दे दिया था।

बसपा सुप्रीमो ने आगे कहा, “जिस दिन मैंने राज्यसभा से इस्तीफा दिया, उसी दिन फैसला लिया की अब मुझे पूरे देश में, खास कर पिछड़े वर्गों, मजदूरों, किसानों को बीजेपी की गलत नीतियों के बारे में लोगों को जागृत और तैयार करके, पूंजीवादी पार्टियों को केंद्र और राज्यसरकारों में आने से रोकना है।”

बता दें कि कांशीराम की जयंती पर आयोजित इस रैली में पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ से हजारों की संख्या में पार्टी समर्थक जुड़े। इस रैली को संविधान बचाओ, आरक्षण बचाओ नाम दिया गया है।