• 2
    Shares

कासगंज में हुई हिंसा में पुलिस की दबिश जारी है। इस सिलसिले में आज इत्तेहादे मिल्लत कौंसिल (आईएमसी) के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा को कासगंज जाते वक्त पुलिस ने हिरासत में ले लिया गया है। मौलाना तौकीर ने कासगंज हिंसा को भाजपा की साज़िश बताया और मामले के उच्चस्तरीय जांच की मांग की।

मौलाना तौकीर ने मीडिया से बात करते हुए भाजपा पर आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “भाजपा 2019 का चुनाव जीतने के लिए पूरे देश मे हिन्दू-मुस्लिम दंगे करवाना चाहती है। सरकार प्रवीण तोगड़िया को मरवाकर पूरे हिंदुस्तान में दंगा करवाना चाहती है ताकि 2019 का चुनाव जीता जा सके।”

इससे पहले 29 जनवरी को मौलाना तौकीर ने ये ऐलान किया था कि वो 1 फरवरी को कासगंज जाएंगे। उन्होंने ये भी कहा था कि वो वहां मृतक चंदन गुप्ता के परिजनों से भी मिलेंगे। इसके अलावा उन्होंने मृतक चंदन गुप्ता के परिवार वालों को 1 लाख और दो घायलों को 50-50 हज़ार का चेक देने का दावा किया था।

बता दें कि इससे पहले आईएमसी अध्यक्ष मौलाना तौकीर रज़ा ने राष्ट्रगान पर आपत्ति दर्ज करते हुए सरकार से नए राष्ट्रगान बनाने की मांग की थी। मौलाना तौकीर ने कहा था कि मजहब उनको इस राष्ट्रगान को गाने की इजाजत नहीं देता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here