fake check
Fake Check

दिल्ली चुनाव के नतीजे आ गए हैं। कोई इन नतीजों का जश्न मना रहा है तो कोई मातम। वजह साफ़ है, जो जीता वो जश्न मना रहा है, जो हारा वो मातम मना रहा है। लेकिन इस बीच कानपुर के सांसद सत्यदेव पचौरी गणित लगा रहे हैं। गणित भी ऐसी की आर्यभट्ट भी शर्मिंदा हो जाएँ।

सांसद जी ने पूरा जोड़, घटाना लगाकर, हिसाब किताब करके एक ट्वीट किया है। ट्वीट में सांसद जी फेक न्यूज़ फैलाते हुए बताते हैं कि 8 सीटों में भाजपा की हार का अंतर महज़ 100 वोट का रहा।

जबकि बोलता हिंदुस्तान की टीम ने इलेक्शन कमीशन की बेवसाइट पर जाकर देखा तो ये न्यूज एकदम फर्जी निकली।

दिल्ली की 70 विधानसभाओं में एक भी सीट ऐसी नहीं है जिसमें जीत का अंतर 100 से कम हो। 

सांसद पचौरी दूसरा झूठ ये लिखते हैं कि, 19 सीटों में अंतर 1000 वोट का रहा।

जबकि दिल्ली विधानसभा की दो सीटे ऐसी हैं जहाँ जीत का अंतर 1000 वोट से कम रहा है। बिजवासन और लक्ष्मी नगर।

बिजवासन- 753

लक्ष्मी नगर- 880

सांसद का तीसरा झूठ– 9 सीटों में अंतर 2000 वोट का रहा।

सिर्फ एक सीट आदर्श नगर ऐसी है जहाँ जीत का अंतर 1589 वोटों का अंतर रहा है। यह सीट आप प्रत्याशी के खाते में गई है।

पचौरी जी के हिसाब से मतलब की उनके जोड़, घटना, गुणा, भाग से भाजपा को 44 सीट मिल जातीं और दिल्ली का खेल बदल जाता। अब पचौरी जी को ये कौन बताये की दिल्ली का खेल बदल चुका है। दिल्ली की जनता ने आम आदमी पार्टी को जिता दिया है। भाजपा को इस खेल में करारी शिकस्त मिली है।

हार यकीनन परेशान करती है लेकिन हार बेकाबू नहीं करती। आखिर इस फर्जी खबर को फैलाकर और अपनी गणित के ज्ञान की गंगा भाकर सत्यदेव पचौरी आखिर क्या साबित करना चाहते हैं, गंगा से कानपुर की गंगा की याद आ जाती है।

मनिय नेता जी फेक न्यूज़ फ़ैलाने की जगह अगर इतना गुणा भाग शहर की गंगा सफाई में कर लेते तो आज गंगा मैया आपका कुछ भला कर देतीं। अब तो दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी भी अपनी हार मान चुके हैं और प्रेस कांफ्रेंस करके ये बोल चुके हैं की उनका 48 सीट जीतने का दावा करने वाला ट्वीट अब लोग पांच साल तक संभालकर रख लें।

फिर पचौरी जी काहे इतना हैरान परेशान हो रहे हैं? जनता को अलग परेशान कर रहे हैं जनता किस किसके ट्वीट सम्भाले मनोज तिवारी का एक सम्भाला नहीं जा रहा है ऊपर से पचौरी जी ने अलग रायता फैला दिया है।

अगर माननीय नेता जी को गणित ही लगानी है तो उन सीटों पर जोड़, घटना, गुणा, भाग करके हिसाब लगाना चाहिए जिन पर भाजपा जीती है। सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। बहरहाल पचौरी जी को एक बात बताना चाहते हैं दिल्ली का चुनाव पानी पर ही लड़ा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

17 − 14 =