लोकसभा चुनाव में अब सिर्फ एक आखिरी चरण बचा है। मगर EVM और वीवीपैट को लेकर नये विवाद ने फिर जन्म ले लिया है। वो भी राजधानी दिल्ली में जब एक युवक ने दावा किया है कि उसने जो वोट दिया और वीवीपैट (VVPAT) मशीन में जो दिखा वह मेल नहीं खा रहा था और इस संबंध में उसे शिकायत नहीं करने दी गई।

मिलन गुप्ता ने सोशल मीडिया पर लिखा कि मेरी VVPAT मशीन (दिल्ली, मटियाला मतदान केंद्र संख्या 96) ने गलत निशान दिखाया जबकि ईवीएम की लाल बत्ती सही जली थी।

आंध्रप्रदेश में बिखरी मिलीं VVPAT स्लिप! सिसोदिया बोले- क्या अब भी EC को निष्पक्ष माना जाए?

मैंने निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की जिन्होंने मुझे नोडल अधिकारी के पास जाने का निर्देश दिया और उन्होंने वहां से सेक्शन ऑफिसर के पास जाने का निर्देश दिया। उन सभी ने मुझे शिकायत नहीं करने को कहा।

युवक ने कहा कि मुझसे कहा कि आईपीसी की धारा 177 के तहत गिरफ्तार कर लिया जाएगा। मुझे यह बहुत अजीब लगा क्योंकि यह धारा बिना अदालती आदेश के गिरफ्तार करने का प्रावधान नहीं करती। मैंने उन्हें बताया कि मैं हर हाल में लिखित शिकायत करुंगा। ये मामला पश्चिमी दिल्ली के मटियाला विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र से जुड़ा हुआ है।

35 साल भीख मांगकर खाने वाले मोदी के पास डिजिटल कैमरा भी था और ईमेल सुविधा भी, कैसे?

बता दें कि दिल्ली में रविवार को 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जो कि 2014 के 65 प्रतिशत से कम है। दिल्ली में भाजपा, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। मतदान के दौरान दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों से EVM में खराबी और मतदाताओं के नाम नहीं होने की घटनाएं सामने आयीं थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here