भाजपा द्वारा लाए जा रहे जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर बिहार में एनडीए की सहयोगी पार्टी जदयू आपत्ति जाहिर कर रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा में इस मुद्दे पर अनबन देखने को मिल रही है।

इससे पहले भी नीतीश कुमार और भाजपा के बीच कई मुद्दों को लेकर तल्खी देखने को मिल चुकी है। इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव का बड़ा बयान सामने आया है।

खबर के मुताबिक, तेजस्वी यादव ने जातिगत जनगणना को लेकर मोदी सरकार और नीतीश सरकार पर हमला बोला है।

तेजस्वी यादव ने बयान दिया है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस संदर्भ में 4 तारीख को पत्र लिखकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करने का समय मांगा था।

इसके विपरीत आज तक उन्हें मोदी सरकार द्वारा समय नहीं दिया गया। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात कर रहे हैं।

बता दें, ये दोनों ही विपक्षी दलों के नेता हैं। पीएम मोदी उस राज्य के मुख्यमंत्री से मुलाकात नहीं कर रहे हैं। जिसने उन्हें 39 सांसद दिए हैं।

मोदी सरकार द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का अपमान किया जा रहा है। इस बातों को मुख्यमंत्री को भी समझना चाहिए।

इस दौरान तेजस्वी यादव ने यह भी कहा है कि हम शुरुआत से ही जातिगत जनगणना की मांग उठा रहे हैं। इस मुद्दे को उठाते हुए राजद ने कई बार सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन भी किए हैं।

बिहार विधानमंडल में जातिगत जनगणना के लिए दो बार प्रस्ताव भी पारित हो गया है। जिसमें भाजपा भी शामिल थी।

हम ने मांग उठाई थी कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई में एक कमेटी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जाकर मुलाकात करें। लेकिन अभी तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पीएम मोदी द्वारा समय ही नहीं दिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

12 − one =