• 201.2K
    Shares

अहमदाबाद (गुजरात) से कटिहार जा रही एक महिला प्रवासी श्रमिक की रास्ते में ही मौत हो गई। जिसके बाद उसके शव को उसके दो मासूम बेटों के साथ मुजफ्फरपुर जंक्शन पर उतार दिया गया।

महिला के शव को प्लेटफॉर्म पर ही कफ़न ओढ़ा कर रख दिया गया। जिसके बाद वहां दिल को झकझोर देने वाला नज़ारा देखने को मिला। मां के कफ़न को मासूम बेटों ने उसका आंचल समझा और उससे खेलने लगे। इस दर्दनाक हादसे का वीडियो भी सामने आया है, जिसे देखने के बाद राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने पीड़ित परिवार की मदद का ऐलान किया है।

उन्‍होंने दोनों बच्चों के लिए तत्‍काल पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद की घोषणा की है। साथ ही उनकी पढ़ाई की जिम्‍मेदारी उठाते हुए उनकी देखभाल करने वाले परिवार के किसी सदस्य को उनके गृह जिला कटिहार में नौकरी देने का भी आश्‍वासन दिया। तेजस्वी ने इस बात की घोषणा ट्विटर के जरिए की।

बता दें कि मृत महिला का नाम अरबिना खातून है। वो कटिहार के आजमनगर के रहने वाले इस्लाम की पत्नी थी। इस्लाम उसे दो साल पहले ही छोड़ कर चला गया था। जिसके बाद से अरबिना ही अपने बच्चों को पाल रही थी। अरबिना की मौत के बाद दोनों बच्चे अनाथ हो गए। ऐसे में उन्हें मदद की सख़्त ज़रूरत थी, जिसे काफ़ी हद तक तेजस्वी यादव ने पूरा कर दिया।

तेजस्वी यादव ने मदद का ऐलान करते हुए कहा कि उन्होंने ऐसा इंसानियत के नाते किया है। सोशल मीडिया पर तेजस्वी के इस कदम की जमकर तारीफ़ हो रही है। शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने तेजस्वी की सराहना करते हुए कहा कि उम्मीद है कि बिहार सरकार भी इस तरह की सहायता करेगी।

माना जा रहा है कि अरबिना की मौत ट्रेन के देरी से चलने और भूख-प्यास व गर्मी से हुई। हालांकि सरकार इस बात से इनकार कर रही है। सरकार का कहना है कि महिला की मौत उसकी बीमारी की वजह से हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here