बिहार विधानसभा चुनाव में फ्रंट फुट पर आकर विरोधियों के छक्के छुड़ा रहे तेजस्वी यादव को अब सबसे बड़े लड़ाके के रूप में देशभर के अधिकतर टीवी चैनल भी स्वीकार रहे हैं।

जहां मुख्यमंत्री के रूप में उन्हें पहली पसंद बताई जा रही है वहीं उनके नेतृत्व में बने महागठबंधन को बहुमत मिलते हुए दिखाया जा रहा है।

बेरोजगारी को सबसे बड़ा मुद्दा बनाकर युवाओं के आक्रोश का चेहरा बने तेजस्वी यादव ने बिहार की फिजा ऐसी बदली है कि सबसे चर्चित रहने वाले टूडेज चाणक्य ने अपने एग्जिट पोल में महागठबंधन को 180 से 185 सीटें मिलते हुए दिखाया है।

इसके साथ ही इस पोल में दावा किया गया है कि नीतीश बीजेपी के नेतृत्व वाला एनडीए गठबंधन महज 50-55 सीटों पर सिमट जाएगा।

इसके साथ ही इस एग्जिट पोल में दावा किया गया है की वोट प्रतिशत के मामले में महागठबंधन एनडीए से 10% ज्यादा वोट पाएगा यानी महागठबंधन को 44% वोट मिलेंगे जबकि एनडीए को मात्र 34% सबसे दिलचस्प है कि टुडे चाणक्य एग्जिट पोल में लगभग 22% वोट अन्य को मिलता हुआ दिखाई दे रहा है।

इसके साथ ही रिपब्लिक टीवी जन की बात के एग्जिट पोल में भी महागठबंधन को बहुमत पाते हुए दिखाया जा रहा है।

लगभग सभी बड़े चैनलों और एजेंसियों के एग्जिट पोल में दावा किया जा रहा है कि महागठबंधन या तो बहुमत पा रहा है या बहुमत के बेहद करीब है। जहां कहीं एनडीए और महागठबंधन में टक्कर भी दिखाई जा रही है वहां महागठबंधन भारी पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

भास्कर के एग्जिट पोल सबसे अलग रुझान पेश कर रहे हैं जिसके मुताबिक एनडीए को बहुमत पाते हुए दिखाया गया है।

हालांकि चुनावी रैलियों में उमड़े जनसैलाब और अब अधिकतर टीवी चैनलों के एक्जिट पोल में मिलती हुई बढ़त को देश का अंदाजा लगाया जा रहा है कि 10 नवंबर को चुनावी नतीजे महागठबंधन के पक्ष में होंगे और तेजस्वी यादव सबसे युवा मुख्यमंत्री के रूप में बिहार का नेतृत्व करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

5 × 4 =