बिहार में कल से तीसरे और आखिरी चरण के चुनाव के लिए चुनाव प्रचार शुरू हो गया है। जिसके चलते कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज बिहार के अररिया पहुंचे हुए हैं।

यहां पर राहुल गांधी ने चुनावी रैली को संबोधित करते हुए बिहार की नीतीश सरकार से लेकर पीएम मोदी तक हमला बोला है।

राहुल गांधी ने अपनी जनसभा के दौरान ईवीएम के मुद्दे पर एनडीए सरकार को घेरते हुए कहा कि ईवीएम मशीन का नाम एमवीएम मशीन है। यानी कि ”मोदी वोटिंग मशीन” लेकिन बिहार में भले ही ईवीएम हो या एमवीएम।

इस बार महागठबंधन जीतने जा रहा है। क्योंकि राज्य के युवाओं के मन में नीतीश सरकार के प्रति रोष और गुस्सा है। जो चुनाव के नतीजों में सामने आएगा।

बता दें, राहुल गाँधी इस मुद्दे को इस उठाया क्यूंकि मतदान के दौरान ईवीएम टेंपरिंग का मामला सामने आया है।

इस दौरान राहुल गांधी ने राज्य के मजदूरों और किसानों के मुद्दे पर भी नीतीश सरकार को घेरते हुए कहा कि कोरोना महामारी के दौरान मजदूरों ने हजारों किलोमीटर पैदल सफर किया। क्यूंकि इस सरकार ने उनके लिए किसी सुविधा का इंतजाम तक नहीं किया।

सरकार ने मजदूरों की जान की परवाह नहीं की। जब सड़कों पर पैदल चलते हुए मजदूरों के पैर लहूलुहान हो रहे थे। तब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने आवास में आराम फरमा रहे थे।

मोदी सरकार को लगता है कि उन्होंने किसानों को कहीं पर भी अपनी फसल बेचने की इजाजत देकर एहसान किया है।

लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि एक गरीब किसान अपनी फसल को हवाई जहाज से बेचने जाएगा या सड़क मार्ग से। उसे अपनी फसल को बेचने के लिए सड़क से ही जाना होगा। लेकिन बिहार में सड़कें कहां पर हैं।

गौरतलब है कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जनसभाओं में युवाओं का गुस्सा साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। कल लोगों ने महंगाई से परेशान होकर जनसभा के दौरान नीतीश कुमार पर प्याज फेंके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

11 − seven =