बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों के सामने आने के बाद राज्य में इस वक्त सियासी हलचल मची हुई है। आज महागठबंधन की तरफ से मुख्यमंत्री उम्मीदवार बने राजद नेता तेजस्वी यादव ने एक बैठक बुलाई है।

जिसमें उन्होंने महागठबंधन के नेताओं को संबोधित किया है। तेजस्वी यादव ने इस दौरान एनडीए की जीत पर सवाल खड़े किए हैं।

तेजस्वी यादव ने इस बैठक में ईवीएम के साथ गड़बड़ी के आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग से महागठबंधन के उम्मीदवारों की शंका दूर करने की बात कही है।

तेजस्वी यादव का कहना है कि राज्य की जनता का फैसला महागठबंधन के पक्ष में है। लेकिन चुनाव आयोग ने एनडीए के पक्ष में नतीजे घोषित किए हैं।

उनका कहना है कि जिस सीट से मैंने चुनाव लड़े हैं। उस पर मतगणना की प्रक्रिया दोपहर 3 बजे तक पूरी हो चुकी थी। लेकिन नतीजे आधी रात को घोषित किए गए हैं।

तेजस्वी यादव राजद का गढ़ कहे जाने वाले राघोपुर से चुनाव लड़े हैं। तेजस्वी यादव ने महागठबंधन की जीत 130 सीटों पर होने का दावा किया है।

अगर चुनाव आयोग इस मामले में कुछ नहीं करती तो तेजस्वी यादव ने कोर्ट का दरवाजा खटकाने की बात कह दी है।

तेजस्वी ने सत्तारूढ़ गठबंधन पर “धन, छल और बल” के जरिये चुनाव जीतने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने चोर दरवाजे से जीत हासिल की है।

तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार की जनता ने हमारा पूरे दिल से साथ दिया है और इसके लिए हम एक धन्यवाद यात्रा भी निकालेंगे।

गौरतलब है कि महागठबंधन ने बिहार में इस बार 110 सीटों पर जीत हासिल की है। तेजस्वी यादव समेत कई विपक्षी नेताओं ने हेराफेरी के जरिये महागठबंधन के उम्मीदवारों को हराने के आरोप लगाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

20 − eleven =