बिहार के मुंगेर में दुर्गा पूजा के बाद मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई हिंसा में पुलिस द्वारा लाठीचार्ज किया गया और गोलीबारी की गई। इस घटना में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई। वहीं कई लोग घायल हुए हैं।

पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के बाद लोगों ने विरोध में पुलिस थानों को निशाना बनाया। लोगों ने पुलिस थानों पर पत्थरबाजी और आगजनी की।

लोगों द्वारा लगातार एसपी लिपि सिंह और डीएम राजेश मीणा को हटाए जाने की मांग की जा रही थी। इस बीच खबर सामने आ रही है कि लोगों के बढ़ रहे विरोध के बाद अब प्रशासन ने बड़ा कदम उठाया है।

खबर के मुताबिक बिहार निर्वाचन आयोग ने मुंगेर के एसपी लिपि सिंह और डीएम राजेश मीणा को तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश जारी कर दिया है।

बताया जा रहा है कि इस पूरे मामले की जांच मगध के डिवीजन कमिश्नर को को सौंप दी गई है।

बिहार निर्वाचन आयोग ने मगध के डिविजन कमिश्नर से 7 दिनों के भीतर रिपोर्ट देने के लिए आदेश दिए हैं। इसके साथ ही आज ही मुंगेर में नए डीएम और एसपी की पोस्टिंग किए जाने की बात भी कही गई है।

आपको बता दें कि इस वक्त मुंगेर में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। जिसके चलते जगह जगह पर पुलिस फोर्स की बड़ी तादाद में तैनाती की गई है।

दरअसल मुंगेर के डीएम ने बयान दिया था कि यह घटना असामाजिक तत्वों द्वारा रची गई एक साजिश थी। जिसका जल्द ही खुलासा होगा पुलिस को किसी भी तरह के बल का प्रयोग करने का आदेश नहीं दिया गया था।

गौरतलब है कि मुंगेर में हुई इस हिंसा की घटना के बाद से ही राज्य में राजनीति गरमाई हुई थी। दरअसल एक तरफ यह घटना घटी और दूसरी तरफ राज्य में पहले चरण के चुनाव के लिए मतदान होने वाले थे। राजद नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस घटना पर जवाब माँगा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 5 =