बिहार विधानसभा चुनाव के शुरुआती रुझान में महागठबंधन और एनडीए के बीच कांटे की टक्कर चल रही है।

शुरुआती रुझान से ये साफ़ नहीं हो पा रहा कि बिहार में नीतीश कुमार की वापसी होगी या फिर तेजस्वी यादव सत्ता की कमान संभालेंगे। नतीजे जो भी हों लेकिन नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने पहले ही अपनी हार स्वीकार कर ली है।

जेडीयू प्रवक्‍ता केसी त्‍यागी ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा हमें तेजस्‍वी यादव ने नहीं बल्कि प्राकृतिक आपदा ने हराया है।

उन्होंने हार की वजह कोरोना को बताते हुए कहा कि हमें प्राकृतिक आपदा ने हराया है। न तो ब्रांड नीतीश गायब हुआ है और न ही तेजस्‍वी यादव स्‍थापित हुए हैं।

त्‍यागी ने कहा, ‘हम जनादेश का स्‍वागत करते हैं, हम केवल राष्ट्रीय आपदा कोविड-19 के कारण पीछे चल रहे हैं। हम बिहार के पिछले 70 साल की खराब हालत का परिणाम भुगत रहे हैं। हमें आरजेडी या तेजस्वी यादव ने नहीं हराया है।

ग़ौरतलब है कि बिहार चुनाव के अब तक जो रुझान सामने आए है, उसमे एनडीए और महागठबंधन के बीच कांटे की टक्कर चल रही है।

कभी बहुमत महागठबंधन को मिलता दिख रहा है तो कभी एनडीए बहुमत के आंकड़ों को पार करती नज़र आ रही है। शुरुआती रुझान से पता नहीं चल रहा कि बाज़ी किसके हाथों में जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − nine =