कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए बिहार की नीतीश सरकार ने क्या तैयारी की है, इसकी पोल लगातार वहां के डॉक्टर्स खोल रहे हैं। अब भागलपुर स्थित जवाहर लाल नेहरू अस्पताल एवं मेडिकल कॉलेज (JNMCH) के जूनियर डॉक्टर्स व नर्स जरुरी सुरक्षा उपकरण (PPE) व N95 मास्क न मिलने की वजह से हड़ताल पर बैठ गए हैं।

इन डॉक्टर्स की मांग है कि कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए उन्हें जरुरी सुरक्षा उपकरण (PPE), N 95 मास्क साथ ही सर्जिकल मास्क, हैंड सैनेटाइजर और गल्वस मुहैया कराए जाएं। इन लोगों का कहना है कि अगर ये चीजें उन्हें मुहैया नहीं कराई जाती तो वो अपनी जान जोखिम में डालकर अस्पताल जाकर इलाज नहीं करेंगे। इन जूनियर डॉक्टर्स ने इस संबंध में मेडिकल सुप्रीटेंडेंट और इंडियन मेडिकल एसोसिएशन को चिट्ठी भी लिखी है।

एक जूनियर डॉक्टर ने द क्विंट को बताया कि चिठ्ठी लिखे जाने के बाद भी उनमें से कई डॉक्टर्स इलाज के लिए अस्पताल जा रहे हैं। डॉक्टर ने कहा, “हम कोई दुश्मन नहीं हैं, हमें भी मरीजों से हमदर्दी है। इसलिए काम पर ना जाने के लिए लेटर लिखने के बाद भी हम लोगों में से बहुत से लोग वॉर्ड में जा रहे हैं। हमने सिर्फ सुरक्षा के लिए मांग की है”।

सरकार द्वारा किए गए दावों की पोल खोलते हुए डॉक्टर ने कहा, “यहां सरकार कह रही है कि सारे सामान हैं, फिर भी हमें सेफ्टी के नाम पर कुछ नहीं दिया जा रहा है। बार-बार कहा जाता है जल्द सारे सामान आ जाएंगे। लेकिन अबतक कुछ नहीं आया।

भागलपुर में सरकार की ओर से ये लापरवाही तब देखने को मिल रही है जब ज़िले में 6 पॉजिटिव केस आ चुके हैं। इसके अलावा 5 और संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन वॉर्ड में रखा गया है। पूरे राज्य की बात करें तो यहां कुल 15 कौरोना पॉजिटिव केस सामने आए हैं, जिसमें एक मौत हो चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here