बिहार में इस वक्त दूसरे चरण के चुनाव के लिए प्रचार अपने चरम पर पहुंच चुका है। नीतीश कुमार के 15 साल के शासन के बाद इस बार जनता बदलाव के मूड में नजर आ रही है।

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव पर फिल्म इंडस्ट्री के मशहूर अभिनेता संजय मिश्रा ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

संजय मिश्रा का कहना है कि सबसे पहली बात यह है कि कोरोना महामारी के दौरान बिहार में चुनाव नहीं होने चाहिए थे। इस चुनाव में जाति और धर्म से ऊपर उठकर लोगों को वोट देना चाहिए।

राज्य में ऐसी सरकार बननी चाहिए। जो सिर्फ विकास करें। बिहार के लोगों को देश के अन्य हिस्सों से वापस बुलाए और यहीं पर रोजगार दे।

सरकार दावा करती है कि बिहार में सब कुछ है लेकिन अगर रोजगार नहीं है। तो लोग यहां रह कर क्या करेंगे ?

जाति और धर्म के नाम पर रोजगार नहीं मिलता। इन चीजों से ऊपर उठकर ऐसी सरकार को चुनिए जो सिर्फ आपके बारे में सोचें।

इस बार लोगों को अपने भविष्य देखकर वोट देने की जरूरत है। आज से 15 साल पहले लोग जाति देख कर अपने नेता को वोट देते थे। लेकिन अब ऐसा नहीं है।

संजय मिश्रा का कहना है कि मैं लोगों से यह कहता हूं कि जाति- धर्म से ऊपर उठकर उस नेता को चुने जो आपका विकास करें।

नीतीश कुमार के बारे में बात करते हुए संजय मिश्रा ने कहा कि ना तो हमें किसी को दामाद बनाना है और ना ही भाई। जब तक कोई काम कर रहे हैं। तब तक सब सही है। आप सरकारी सेवा कर रहे हैं। बेहतर काम कीजिए।

वहीँ बिहार के युवा नेताओं के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव और चिराग पासवान राज्य का भविष्य है। दोनों ही बहुत समझदार नेता है। इनसे बिहार में बदलाव और विकास की उम्मीद की जा सकती है।

इस बार बहुत ही सोच समझकर वोट देने की जरूरत है। अगर इस बार बिहार पीछे चला गया तो उसे आगे लाने की बात को भूल जाइए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 20 =