सीएनएन विश्लेषक वैन जोन्स ने डोनाल्ड ट्रंप की जीत को एक भयानक सपना बताया है। उन्होंने कहा कि माता-पिता के लिए अपने बच्चों को समझाना मुश्किल होगा कि कैसे एक ऐसा व्यक्ति देश का राष्ट्रपति बन गया जो हमेशा दूसरों का अपमान करता है और उन्हें कमतर दिखाता है।

जोन्स ने बहुत सारे अमरीकियों के दर्द और खौफ को बयान करते हुए कहा कि लोग जादू की बात कर रहे हैं, और मैं एक बुरे ख्वाब की ताबीर की। जहां एक माता-पिता के लिए बेहद मुशकिल है अपने जिगर के टुकड़ों को नैतिकता का पाठ पढ़ाना। यह बताना कि दंगा करना और कट्टर सोच रखना अच्छी बात नहीं। जब हम अपने बच्चों को आज दहशत के इस माहौल में सुलाएंगे तो कल सुबह वो उठने से घबराएंगे।

जोन्स ने कहा कि मेरे मुस्लिम दोस्त मुझसे सवाल कर रहे हैं, ‘क्या उन्हें देश छोड़ देना चाहिए?’ शर्णार्थियों के परिवार इस जनादेश से डरे हुए हैं।

जोन्स ने ट्रंप की इस जीत के लिए बहुत सारे फैक्टर्स में से रंगभेद को अहम बताया। उन्होंने बताया कि ट्रंप गोरे श्रमिक वर्ग के मतदाताओं को लुभाने में कामयाब हुए। उन्होंने कहा कि ट्रंप की जीत बदलते हुए देश और काले प्रेसिडेंट के खिलाफ गोरे जातिवादियों का प्रतिघात है। और यह प्रतिघात ही दर्द की असली वजह है।

डोनाल्ड ट्रंप अब देश के राष्ट्रपति हैं, उनकी ज़िम्मेदारी है कि लोगों को आश्वस्त करें कि वह उन लोगों के भी नेता हैं जिनको उन्होंने अपमानित और कलंकित किया था।