हाल ही में अमेरिका समेत दुनिया के कुछ अन्य देशों में फ़ाइज़र की कोरोना वैक्सीन लोगों को लगाई जा रही है। एक महीने पहले ही फाइजर द्वारा निर्मित कोरोनावायरस का ह्यूमन ट्रायल पूरा हुआ था।

जिसके बाद कुछ साइड इफैक्ट्स होने की संभावना जताते हुए फाइजर की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई थी। फ़ाइज़र ने ऐलान किया था कि साल 2021 के अंत तक 1.3 अरब डोज़ तैयार किए जाएंगे।

इसी बीच पुर्तगाल से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। खबर के मुताबिक, पुर्तगाल में फाइजर की कोरोना वैक्सीन लेने के बाद एक महिला स्वास्थ्य कर्मी की मौत हो गई है।

इस महिला स्वास्थ्य कर्मचारी का नाम सोनिया असेवेदो बताया जाता है। जो एक कैंसर अस्पताल में काम करती थी। बताया जा रहा है कि सोनिया को फ़ाइज़र की कोरोना वैक्सीन लगाए जाने के दो दिनों बाद उनकी मौत हो गई है।

महिला के शव का पोस्टमार्टम कर इस बात का पता लगाया जाएगा कि क्या वैक्सीन की वजह से उसकी मौत हुई है या किसी अन्य कारण के चलते। बताया जाता है कि फ़ाइज़र की वैक्सीन लगवाने के बाद उनके अंदर किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं देखा गया था।

इस मामले में सोनिया के पिता ने पुर्तगाली अखबार से बातचीत के दौरान बताया है कि उनकी बेटी बिल्कुल ठीक थी। उसे किसी भी तरह की सेहत संबंधी समस्या नहीं थी।

मैं नहीं जानता कि क्या हुआ है। मेरी बेटी ने करोना वैक्सीन लगाई थी। उसके दो दिन बाद वह इस दुनिया को छोड़ कर चली गई। मैं सिर्फ यह जानना चाहता हूं कि उसकी मौत किस वजह से हुई है।

सोनिया पुर्तगाल इंस्‍टीट्यूट ऑफ ऑन्‍कोलॉजी में बीते दस साल में काम करती थी। कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद उन्होंने सोशल मीडिया के जरिये इसकी जानकारी भी दी थी। बेटी की अचानक हुई मौत से उनके पिता सदमे में आ गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − 4 =