बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने हरिद्वार में आयोजित धर्म संसद के मामले में सुनावई की। कोर्ट ने केंद्रीय गृह मंत्रालय के अलावा दिल्ली और उत्तराखंड पुलिस प्रमुखों से पूछा कि अब तक अभियुक्तों को गिरफ़्तार क्यों नहीं गया?

कोर्ट की फटकार के बाद गुरूवार को जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी के दौरान का एक वीडियो भी सामने आया जिसमें नरसिंहानंद गिरि पुलिस अफसरों से यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं, ‘यार तुम सब मरोगे, अपने बच्चों को भी मरवाओगे’

अब एक दूसरा वीडियो सामने आया है जिसमें किसी विशाल नाम के व्यक्ति से बात करते हुए नरसिंहानंद पुलिस को हिजड़ा कह रहा है।

हरिद्वार धर्म संसद में नफरती भाषण देने के आरोप में जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी उर्फ वसीम रिजवी को गुरूवार के दिन गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तारी के दौरान का एक वीडियो भी सामने आया जिसमें नरसिंहानंद गिरि पुलिस अफसरों से यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं, ‘यार तुम सब मरोगे, अपने बच्चों को भी मरवाओगे’

अब एक दूसरा वीडियो सामने आया है जिसमें किसी विशाल नाम के व्यक्ति से बात करते हुए नरसिंहानंद ने पुलिस को हिजड़ा कह रहा है। दरअसल, विशाल ने नरसिंहानंद से वसीम रिजवी की गिरफ्तारी का कारण पूछा। इसके जवाब में नरसिंहानंद ने कहा- देखिए हम शांत नहीं बैठेंगे। हमें सुप्रीम कोर्ट पर, इस संविधान पर कोई भरोसा नहीं है। ये संविधान हिन्दुओं को खा जाएगा। 100 करोड़ हिन्दुओं को खा जाएगा। इस संविधान पर विश्वास करने वाले सारे लोग मारे जाएंगे। जो इस सिस्टम पर, नेताओं पर, इस सुप्रीम कोर्ट, इस पुलिस पर, इस फौज पर भरोसा करेंगे कुत्ता की मौत मारे जाएंगे।

नरसिंहानंद ने आगे कहा- जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी जब तक वसीम रिजवी थे। इस्लामिक कट्टरपंथ के खिलाफ बोलते रहे तो गिरफ्तार नहीं हुए। लेकिन जितेंद्र नारायण सिंह बनते ही गिरफ्तार हो गए। तब इन पुलिस के हिजड़े या एक भी नेता की हिम्मत नहीं थी कि उन्हें गिरफ्तार करे। जैसे ही उन्होंने सनातन अपनाया वो इस देश में दोयम दर्जे के नागरिक हो गए। और आज अपमानित होकर प्रताड़ित होकर जेल में हैं।

विशाल ने जब जितेंद्र नारायण सिंह को जेल से बाहर निकालने को लेकर किए जा रहे प्रयास के बारे में पूछा तो नरसिंहानंद ने कहा- देखिए हम क्या कर सकते हैं। कानूनी लड़ाई लड़ेंगे। वकील खड़े किए है। अनसन पर बैठेंगे। और बताओ क्या किया जा सकता है। हम जेल तो तोड़ नहीं सकते हैं। हमारे तो लड़के साले हिजड़े हैं इनसे बच्चे पैदा नहीं हो रहे। ये टाइम पर शादी नहीं कर रहे, हम क्या कर सकते हैं। हम निहत्थे लोग। कमजोर लोग। हम कमजोर कौम की लड़ाई लड़ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

six − 5 =