26 सितंबर का दिन बेहद खास इसलिए है क्योंकि आज भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का जन्मदिन है।

88 साल के पड़ाव पर पह़ुंच चुके मनमोहन सिंह का जन्म 26 सितंबर 1932 को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में हुआ था।

महान अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह को आज पूरा देश याद कर रहा है। क्योंकि देश की जीडीपी माइनस में पहुंच गई है।

मनमोहन सिंह को लोगों ने बहुत से जिम्मेदारी निभाते देखा है।

चीफ इकॉनोमिक एडवाइजर
आरबीआई गर्वनर
डिप्टी चैयरमैन प्लानिंग कमीश्नर
वित्तमंत्री
प्रधानमंत्री

1972 से लेकर 2014 तक देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए सबसे आगे रहे। इतना ही नहीं 2014 से लेकर आजतक विपक्ष मोदी सरकार को सचेत और सलाह देने का काम भी बखूबी किया है।

नोटबंदी से लेकर जीएसटी पर सरकार को सुझाव दिए। कोरोन काल में लॉकडाउन के दौरान अर्थव्यवस्था को कैसे मजबूती मिले इसको लेकर सचेत करते रहे।

1991 का दौर रहा हो या 2008 का मनमोहन सिंह ने भारत को उभरती अर्थव्यवस्था में कैसे शामिल किया यह आज भी तारीफ का विषय बना हुआ है।

मनमोहन सिंह के 88वें जन्मदिन पर सोशल मीडिया पर लोग उन्हें याद कर रहे हैं।

मनमोहन सिंह एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने खामोश रहकर देश की तरक्की कैसे हो ये सोचने का काम किया।

जबकि यही खामोशी उनकी सबकी बड़ी आलोचना भी बनी। विपक्ष ने उन्हें मौन सरदार भी कहा।

लेकिन दुनिया की पांच उभरती अर्थव्यवस्था में भारत को शामिल कराकर सबको खामोश भी कर दिया था।

आज लोग उन्हें अर्थव्यवस्था के सबसे खराब दौर में याद कर रहे हैं। जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए उनके कामों को गिना रहे हैं।

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, आज आपकी कमी खल रही है।

उन्होंने आगे कहा कि, आज देश प्रधानमंत्री में मनमोहन सिंह की तरह गहराई महसूस करता है। उनकी ईमानदारी, शालीनता और समर्पण हम सभी के लिए प्रेरणा रही है। उन्हें जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएं।

आपको बता दें कि, आज मनमोहन सिंह को विपक्षी भी याद कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शुभकामनाएं दी।

इसके अलावा पी चिदंबरम ने पूर्व प्रधानमंत्री के लिए भारत रत्न की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eight + 3 =