• 7.8K
    Shares

बुलंदशहर के महाव गांव में गोकशी को लेकर भड़की हिंसा पर एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिससे लग रहा है की गाय काटने वाले कौन थे और उनका मकसद ही दंगा भड़काना था।

वीडियो हिंसा के दिन का है जिसमें युवक बात करते हुए नज़र आ रहें है गाय किसने काटी है, इस वीडियो को पत्रकार विनोद कापरी ने सोशल मीडिया पर सांझा किया है।

पहले वीडियो शेयर करते हुए बातचीत का हिस्सा है जिसमें कहा गया है कि, मृत गाय, कुछ आवाज़ें, जो इशारा कर रही है गहरी साजिश की। गाय की तस्वीरें मैंने एडिट कर दी हैं।

“ये ट्रॉली(जिसमें मृत गाय है)किसलिए?”

“ट्रॉली में कैसे(गाय को)भर के लाए?”

“वे भर के लाए हैं”

“यहाँ काटी है गेट में”

“तूने काटी?”

“कुंदन ने काटी है”

“(गाली)ने काटी है।

इस एक मिनट पांच सेकंड की वीडियो में दंगाई पुलिस को चुनौती देते हुए नज़र आ रहें है। साथ ही ये कहते हुए नज़र आ रहें है यहां ज्यादा फ़ोर्स नहीं है चिंता की कोई बात नहीं है। युवक लगातार गाली देते हुए नज़र आ रहें है।

क्या इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या भाजपा की राजनीति और मीडिया द्वारा फैलाई जा रही नफरत का नतीजा है?

विनोद कापरी ने लिखा, वीडियो के शुरूआती हिस्से में बेहद विचलित करने वाली तस्वीरें थीं और कुछ लड़के खड़े है। वो हिस्सा मैंने जानबूझकर हटा दिया है।

पर इन आवाज़ों को यूपी पुलिस तक पहुँचाना बहुत ज़रूरी था। इन आवाज़ों से एकदम साफ़ है कि साज़िश बहुत बहुत गहरी थी। यूपी को जाँच के लिए पूरा वीडियो चाहिए तो मै तुरंत उपलब्ध करा सकता हूँ।

ये कुंदन कौन है? पुलिस चाहे तो आसानी से कुंदन का पता लगा सकती है और कुंदन के ज़रिए साज़िश करने वालों तक पहुँच सकती है।

 

बता दें कि बुलंदशहर के महाव गांव में गोकशी की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। जब पुलिस पहुंची तो वहां पर भीड़ गुस्साई हुई थी।

बुलंदशहर हिंसा: बजरंग दल पर भड़के रोहित सरदाना, बोले- BJP के लोग ही देश में ‘आतंक’ फैला रहे हैं

पुलिस ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन भीड़ ने पुलिस पर ही हमला कर दिया। हमले में यूपी पुलिस के एक इंस्पेक्टर पर मौत हो गई। वहीं एक अन्य नागरिक की भी इसमें मौत हो गई।

पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है और कार्रवाई शुरू कर दी है। इसमें अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।