• 1K
    Shares

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में हैदराबाद जैसी हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया गया है। यहां गैंगरेप पीड़िता को पेट्रोल डालकर जिंदा जला दिया गया। हालांकि 90 फीसदी तक जल जाने के बावजूद अभी पीड़िता की सांसे चल रही हैं। पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

मामला उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के हिंदुनगर गांव का है। यहां गुरुवार की सुबह  ज़मानत पर छूट कर आए दो आरोपियों ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर पीड़िता के ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल पहुंचाया। हालत नाजुक होने पर डॉक्टरों ने 90 फीसदी जल चुकी पीड़िता को लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया। ख़बर है कि पीड़िता को इलाज के लिए दिल्ली लाया जा सकता है।

दरअसल, पीड़ित युवती के साथ कुछ समय पहले शादी का झांसा देकर रेप किया गया था।  इस मामले में दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। आज युवती इसी मामले की पैरवी के लिए रायबरेली जा रही थी। सुबह चार बजे के करीब गांव के बाहर खेत में दोनों आरोपी, जो कि ज़मानत पर बाहर आए थे और उसके तीन साथियों ने युवती को पकड़ लिया।

इन दरिंदों ने पहले युवती पर डंडे और चाकू से वार किया। जिसके बाद घायल होने से युवती को चक्कर आ गया और वह ज़मीन पर गिर पड़ी। युवती जैसै ही नीचे गिरी तो बदमाशों ने उसके ऊपर पेट्रोल डाल दिया और उसे आग के हवाले कर दिया। जिसके बाद पीड़िता की चीखें सुनकर वहां राहगीर इकट्ठा हो गए और उन्होंने आग बुझाई। इसके बाद सूचना मिलने पर मौके पर पुलिस पहुंच गई और पीड़िता को अस्पताल पहुंचाया गया।

पीड़िता की अस्पताल में हालत नाज़ुक है, लेकिन वह बोल पा रही है। पीड़िता ने पुलिस को वारदात को अंजाम देने वालों के नाम बताए हैं। पीड़िता की शिकायत के आदार पर ही पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिनमें रेप के आरोपी हरीशंकर त्रिवेदी और शुभम त्रिवेदी भी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here