tripura caa
Tripura CAA

त्रिपुरा राज परिवार के वंशज एवं कांग्रेस के पूर्व नेता प्रद्योत किशोर देव बर्मन ने अब संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के ख़िलाफ़ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने पूर्वोत्तर राज्य के सभी वर्गों-आदिवासियों और गैर-आदिवासियों से CAA के खिलाफ एक साथ आने की अपील की है।

उन्होंने ये अपील शनिवार को त्रिपुरा ट्राइबल एरियाज ऑटोनोमस डिस्ट्रिक्ट काउंसिल (TTAADC) के मुख्यालय खुमुलवांग में एक विशाल रैली के दौरान की। जिसे उनके नव-स्वदेशी प्रगतिशील क्षेत्रीय गठबंधन (TIPRA) ने आयोजित किया था। उन्होंने कहा, “हम अंत तक CAA के खिलाफ अपने संघर्ष को जारी रखेंगे। मैं सभी लोगों से शांति से संघर्ष जारी रखने की और गैर-स्वदेशी को दुश्मन नहीं मानने की अपील करता हूं। गैर-स्वदेशियों ने CAA को पास नहीं किया है”।

पूर्व IPS बोले- शाहीन बाग की बेटियों को सलाम! जो 20 दिन से कड़कड़ाती सर्दी में CAA का विरोध कर रही हैं

किशोर देव बर्मन (Pradyot Dev Burman) ने आदिवासियों से अपील करते हुए कहा कि गैर-आदिवासियों के साथ एकता और एकजुटता बनाए रखें। उन्होंने कहा कि बंगाली आदिवासी समुदायों के दुश्मन नहीं हैं। बर्मन ने बिना किसी का नाम लिए सत्तारूढ़ और विपक्षी दलों की भी आलोचना की और कहा कि राजनीति कई वर्षों से राज्य के लोगों को विभाजित कर रही है।

शाही वंशज ने कहा कि आपके दुश्मन वे लोग हैं जो आपके वोट से चुने गए, दिल्ली गए और खुद को बेच दिया। जिन्होंने इस अधिनियम (CAA) को लागू किया। आदिवासियों और गैर-आदिवासियों को एकजुट होकर CAA के खिलाफ एकजुट संघर्ष करना होगा।

CAA समर्थन के लिए जारी नंबर को BJP समर्थक ने बताया आलिया भट्ट का नंबर, मोदी करते हैं फॉलो

उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि त्रिपुरा पहले ही बहुत प्रवासियों का स्वागत कर चुका है। अगर सरकार और प्रवासियों को लाना चाहती है, तो वो इन लोगों को गुजरात, महाराष्ट्र या राजस्थान ले जाए। हम और बोझ नहीं उठा सकते। बता दें कि किशोर देब बर्मन सुप्रीम में CAA को चुनौती दे चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − thirteen =