अमेरिका में सत्ता परिवर्तन के साथ ही भारत में अल्पसंख्यकों की स्थिति को लेकर सवाल उठने लगे हैं। अमेरिका की प्रतिष्ठित टाइम मैगज़ीन ने भारत में अल्पसंख्यकों की स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए नरेंद्र मोदी सरकार पर ज़ोरदार हमला बोला है।

टाइम मैगज़ीन ने दावा किया है कि 2019 लोकसभा चुनाव में जीत के बाद से मोदी सरकार मुसलमानों को टारगेट कर रही है। नया नागरिकता कानून लाना और कश्मीर से धारा 370 हटाना इसी कड़ी का हिस्सा है।

मैगज़ीन ने ये बातें अपने एक लेख ‘कैसे जो बाइडेन का नेतृत्व भारत-अमेरिका के संबंध को बदल सकता है’ में कहीं।

टाइम मैगज़ीन ने भारत में एमनेस्टी इंटरनेशनल का ऑफिस बंद किए जाने की भी कड़े शब्दों में आलोचना की। मैगज़ीन ने कहा कि एमनेस्टी इंटरनेशनल का ऑफिस बंद कराना विरोध की आवाज़ को दबाने जैसा है।

मैगज़ीन ने अपने लेख में कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन और उपराष्ट्रपति भी भारत में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर बोल चुके हैं।

लेख में कहा गया कि जो बाइडेन औ कमला हैरिस दोनों ही मोदी सरकार के उस नए नागरिकता कानून की आलोचना कर चुके हैं, जो किसी भी विदेशी को अंदर और बाहर किए जाने को न्यायसंगत ठहरा सकता है।

टाइम मैगज़ीन के मुताबिक, जो बाइडेन ने भारत के नए नागरिकता कानून को धर्मनिरपेक्षता की देश की लंबी परंपरा और एक बहु-जातीय और बहु-धार्मिक लोकतंत्र के लिए असंगत बताया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eleven − nine =