इस देश का दुर्भाग्य नहीं तो और क्या हैं जहां पर सुरेश चव्हाणके नामक शख्स खुद को संपादक बताता है और सुदर्शन टीवी नाम का न्यूज चैनल चलाता है।

ये शख्स खुलेआम न्यूज चैनल के नाम पर भड़काउ खबरें चलवाता है, फर्जी खबरों का प्रसारण करता है और सार्वजनिक रुप से हथियार लहराता है।

ऐसे लोगों को देखकर पत्रकारिता भी शर्मसार हो जाती होगी लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ऐसे लोगों के साथ फोटो खींचवा कर बड़ा हर्ष, आनंद और गौरव प्राप्त होता है।

सुरेश चव्हाणके अपने न्यूज चैनल और अपने ट्वीटर हैंडल से लगातार उन्मादी बातें करता है। वैसे तो सुरेश चव्हाणके मुसलमानों के खिलाफ अनाप शनाप बयानबाजी के लिए जाना जाता है लेकिन इसके निशाने पर रह रहकर दलित और आदिवासी समाज के लोग भी आ जाते हैं।

सुरेश चव्हाणके पर आरोप है कि वो राजस्थान की अनुसूचित जनजाति मीणा समुदाय के ख़िलाफ़ सार्वजनिक रुप से ज़हर उगल रहा है।

सुरेश चव्हाणके खुलकर बोलता है कि मैं जब भी मीणा बोलूं तो तुम कमीना समझ लेना !

मीणा समाज को कमीना कहने वाले सुदर्शन न्यूज के संपादक सुरेश चव्हाणके की एक तस्वीर को ट्वीटर पर अपलोड करते हुए लेखक, ब्लॉगर एवं राजनीतिक सामाजिक कार्यकर्ता हंसराज मीणा ने कहा है कि

“ये देखिए ये जो शख्स प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा है, वह सुदर्शन टीवी न्यूज चैनल का संपादक सुरेश चव्हाणके है. यह राजस्थान की मीणा जनजाति के खिलाफ खुलेआम बोलता है.”

हंसराज मीणा ने आगे लिखा है कि ये व्यक्ति खुलेआम कहता है कि जब मैं मीणा बोलूं तो कमीणा समझ लेना. हंसराज ने सवाल उठाते हुए पूछा है कि इस व्यक्ति पर अभी तक किसी प्रकार की कोई कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं हुई !

आपको बताते हैं कि सुरेश चव्हाणके पत्रकारिता जगत के उस कलंक का नाम है जो लगातार न्यूज चैनल के नाम पर देश भर में जहर फैला रहा है। सुरेश च्वहाणके का दावा है कि वो महज 03 साल की उम्र से ही संघ की शाखा में जा रहा है।

सुरेश का कहना है कि वो लगभग 20 सालों तक संघ में स्वयंसेवक के तौर पर काम कर चुका है। इनका आरएसएस के कई बड़े नेताओं से संपर्क रहा है।

संघ के स्वयंसेवक के तौर पर काम करने के बाद सुरेश एबीवीपी में शामिल हो गया और राजनीति में सक्रिय हो गया।

वहीं शिरडी में पैदा हुए सुरेश ने यह न्यूज चैनल महाराष्ट्र के शिरडी में खोला और उसके बाद नोएडा में शिफ्ट कर इसे नेशनल चैनल बना डाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − eight =