gujarat model
Gujarat Model

24 और 25 फरवरी को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप अपने पहले भारत दौरे पर आ रहे हैं। राष्ट्रपति ट्रंप सबसे पहले अपनी यात्रा में गुजरात के अहमदाबाद आएंगे और यहां पर ट्रंप ‘केम छो ट्रंप’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक मंच साझा करेंगे। राष्ट्रपति ट्रम्प 2016 का चुनाव जीतने के बाद पहली बार भारत आ रहे हैं।

राष्ट्रपति ट्रंप के अहमदाबाद पहुंचने से पहले अहमदाबाद म्‍युनिसिपल कॉरपोरेशन की तरफ से एक दीवार के निर्माण का काम जोर-शोर से पूरा किया जा रहा है। यह दीवार सरदार पटेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट को इंदिरा ब्रिज से जोड़ने वाली सड़क पर बन रही है।

ये दीवार ऐसे ही नहीं बनाई जा रही है इस दीवार के निर्माण के पीछे एक ख़ास मकसद है। ट्रंप के लिए बनाई जा रही दीवार का मकसद है कि जब राष्‍ट्रपति का काफिला सड़क से गुजरे तो उनकी नजर सड़क पर स्थित झुग्गियों पर न जाए।

सड़क किनारे बनीं ये झुग्गियां भारत का वो चेहरा हैं जिसे पीएम नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति ट्रम्प से छिपाना चाहते हैं। ये झुग्गियां दरअसल भारत की एक कड़वी सच्चाई हैं।

ट्रंप 24 फरवरी को अहमदाबाद में होंगे। अहमदाबाद नगर पालिका की तरफ से सात फीट ऊंची दिवार का निर्माण किया जा रहा है। करीब आधा किलोमीटर लंबी दिवार उस रास्‍ते पर है जो अहमदाबाद से गांधीनगर तक जाता है। इसके अलावा मोटेरा में सरदार पटेल स्‍टेडियम तक आने वाले रास्‍ते के सुंदरीकरण का काम भी जोर-शोर से चल रहा है।

ऐसा बताया जा रहा है कि झुग्ग्यिों को छिपाने वाली यह दीवार करीब 600 मीटर लंबी दूरी तक होगी। बताया जा रहा है कि 500 कच्‍चे घरों जिनमें करीब 2500 आबादी है, वह दशकों पुरानी देव सरन या सरनीव्यास स्‍लम इलाके का हिस्‍सा हैं।

नगरपालिका की तरफ से विचार किया जा रहा है कि साबरमती रिवरफ्रंट के सुंदरीकरण के लिए पाम ट्री का इस्तेमाल किया जाए। कुछ इसी तरह का काम उस समय भी किया गया था जब साल 2017 में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे दो दिवसीय गुजरात दौरे पर अहमदाबाद आए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here