अपने विपक्षियों को बदनाम करने के लिए बीजेपी किस तरह पाकिस्तान के नाम का सहारा लेती है, इसकी एक और बागनी तब देखने को मिली असम सरकार में मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता हिमंत बिस्व सरमा ने ये दावा कर दिया कि एआईयूडीएफ के अध्यक्ष बदरुद्दीन अजमल के समर्थकों ने असम के सिलचर हवाईअड्डे पर पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाए।

हिमंत बिस्व सरमा ने शुक्रवार को ट्विटर पर एक वीडियो जारी करते हुए दावा किया कि उनके सिलचर हवाईअड्डे पर पहुंचने के दौरान बदरुद्दीन अजमल के समर्थकों ने ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए।

उन्होंने कहा, ‘इन कट्टरपंथी देशद्रोही लोगों की बेशर्मी देखिए जो कि सांसद बदरुद्दीन अजमल के स्वागत के दौरान पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।’

सरमा ने इस वीडियो को लेकर कांग्रेस को भी घेरा। उन्होंने कहा, ‘यह साफ तौर पर कांग्रेस का पर्दाफाश करता है जोकि गठबंधन के ज़रिए ऐसी ताकतों को बढ़ावा दे रही है। हमें इनसे लड़ना होगा। जय हिंद।’

सरमा ने पुलिस को इस संबंध में मुकदमा दर्ज करने और मामले की जांच करने का निर्देश भी दिया।

हालांकि उन्होंने जो वीडियो साझा किया है, उसमें इतना शोर है कि उसे सुनकर कोई भी ये नहीं कह सकता कि वहां पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाए गए। एआईयूडीएफ ने भी हेमंत बिस्व शर्मा के दावे को झूठा बता है।

एआईयूडीएफ ने वीडियो की सच्चाई बताते हुए कहा कि वहां अज़ीज़ खान ज़िंदाबाद के नारे लगाए जा रहे थे, जिसे बीजेपी ने तोड़-मरोड़कर पेश किया।

एआईयूडीएफ ने कहा कि खान पार्टी के एक विधायक हैं जोकि गुरुवार की इस कथित घटना के समय अजमल के साथ थे। बीजेपी पार्टी की छवि खराब करने के लिए ऐसा कर रही है।

पार्टी महासचिव अमिनुल इस्लाम ने इस मामले पर मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘अजीज खान जिंदाबाद, ना कि पाकिस्तान जिंदाबाद।’ उन्होंने आरोप लगाया कि जब से पार्टी और कांग्रेस के बीच महागठबंधन को लेकर चर्चा शुरू हुई है तभी से भाजपा और खासकर इसके नेता हिमंत बिस्वा सरमा विवाद खड़ा करने का प्रयास कर रहे हैं।

गौरतलब है कि असम में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है। सभी राजनीतिक दलों के अभियान तेज कर दिए है। बदरुद्दीन अजमल ने अपनी पार्टी के प्रचार अभियान की कमान संभाले हुई हैं।

अजमल ने कुछ दिन पहले ही सरकार बनाने के एक सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि उनकी पार्टी चुनाव कांग्रेस के साथ गठबंधन में लड़ेगी और इसके लिए कांग्रेस नेतृत्व से बातचीत जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 3 =