मीडिया में समाजवादी पार्टी के गठबंधन से जुड़ी तरह-तरह की खबरें चल रही हैं। अनुमान लगाया जा रहा था कि शिवपाल सिंह यादव भी अपर्णा की तरह ही भाजपा का हाथ थाम सकते हैं। लेकिन शिवपाल ने साफ़ कर दिया है कि वो समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव के साथ मिलकर ही विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

शिवपाल सिंह यादव ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्टर शेयर किया जिसमें लिखा है, “श्री लक्ष्मीकांत बाजपेई जी के इस दावे में कोई सच्चाई नहीं है कि मैं भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकता हूँ, ये दावा पूर्णतया निराधार और तथ्यहीन है। मैं श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व वाले समाजवादी पार्टी गठबंधन के साथ हूँ और अपने समर्थकों सी आह्वान करता हूँ कि प्रदेश की भाजपा सरकार को उखाड़ कर फेंक दें एवं प्रदेश में समाजवादी पार्टी के गठबंधन वाली सरकार बनाएं।”

दरअसल, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं वर्तमान में ज्वाइनिंग कमेटी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेई ने बुधवार को कहा था कि शिवपाल यादव उनके संपर्क में हैं। उन्होंने शिवपाल को भाजपा ज्वाइन करने का ऑफर भी पेश किया था। लेकिन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के संस्थापक शिवपाल ने लक्ष्मीकांत के दावों को झूठा ठहरा दिया है। उन्होंने अखिलेश के नेतृत्व में भरोसा जताया है।

दूसरी तरफ, जब अखिलेश यादव से प्रेस वार्ता में एक पत्रकार ने पूछा कि क्या शिवपाल चाचा भाजपा के टच में हैं।  तो अखिलेश ने पटलकर कह दिया कि भाजपा के ही कुछ नेता उनके टच में हैं। अखिलेश ने अपर्णा बिष्ट यादव को भाजपा में शामिल होने पर बधाई भी दी है। उन्होने कहा- “अच्छा है, समाजवादी विचारधारा का विस्तार हो रहा है। जिन्हें टिकट हम नहीं दे रहे, उन्हें भाजपा टिकट दे रही है।” अखिलेश ने 16 दिसंबर 2021 को ही शिवपाल की पार्टी के साथ गठबंध की घोषणा कर दी थी।

बता दें, शिवपाल सिंह यादव समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई हैं। शुरुआती दौर में पार्टी को मज़बूत करने में उनका भी बड़ा योगदान रहा है। वो 2007 से 2012 के बीच जसवंतनगर सीट से विधायक भी रहे हैं। इसके बाद शिवपाल ने वर्ष 2018 में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) की स्थापना की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 1 =