बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने मोदी सरकार द्वारा लाए गए कृषि बिल का समर्थन किया है। मुंबई को पीओके कहने के बाद अब कंगना ने देश के अन्नदाता यानि कि किसान को आतंकवादी करार दे दिया है।

भारतीय जनता पार्टी की शह पर महाराष्ट्र सरकार को बदनाम करने की साजिश के बाद अब कंगना ने अपनी सारी हदें पार कर दी हैं अपने बेबाक अंदाज से अब कंगना बदजुबानी पर उतर आई हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, कंगना रनौत ने अब देश के किसानों को आतंकी कहा है। दरअसल राज्यसभा में पास हुए कृषि बिल को लेकर विरोध कर रहे किसानों को कंगना पहले भी गलत ठहरा चुकी हैं।

राज्यसभा में कृषि बिल पास हो जाने के बाद देश के पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा था कि मैं पहले भी कहा चुका हूं और एक बार फिर कहता हूं: MSP की व्यवस्था जारी रहेगी। सरकारी खरीद जारी रहेगी। हम यहां अपने किसानों की सेवा के लिए हैं। हम अन्नदाताओं की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे और उनकी आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर जीवन सुनिश्चित करेंगे।

पीएम मोदी के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए कंगना ने लिखा कि “प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे ग़लतफ़हमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की एक्टिंग करे, नासमझने की एक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फ़र्क़ पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं CAA से एक भी इंसान की सिटिज़ेन्शिप नहीं गयी मगर इन्होंने ख़ून की नदियाँ बहा दी।”

इसपर प्रतिक्रिया देते हुए शेहला रशीद लिखती हैं- क्योंकि किसानों की आत्महत्या चुनावी मुद्दा नहीं बनता और उन्हें न तो पद्मश्री मिलता है न ही जेड सिक्योरिटी।

गौरतलब है कि कंगना रनौत खुद को एक आम परिवार की बेटी बताती हैं। लेकिन वह देश के किसानों के लिए अपमानजनक शब्द और भाषा इस्तेमाल करती है।

कंगना रनौत द्वारा दिए गए हाल ही के बयानों से साफ जाहिर होता है कि वह भाजपा द्वारा समर्थित एक पॉलीटिकल एजेंडा चला रही हैं। जिन्हें यह नजर नहीं आता कि तपती गर्मी के दिनों में पंजाब और हरियाणा के किसान अपने हक के लिए इस बिल का विरोध कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × four =