• 4.7K
    Shares

क्या मध्यप्रदेश में अपनी पंद्रह साल की सत्ता में बीजेपी ने इतना बुरा काम किया है कि आज उसके स्टार प्रचारक प्रधानमंत्री मोदी की रैली में भी भीड़ की कमी पड़ रही है।

क्या प्रधानमंत्री के भाषणों का जादू अब खत्म हो चुका है जिन्हें लोग सुनने के लिए लोग घंटों धूप में खड़े रह कर भी पसंद करते थे।

दरअसल मध्यप्रदेश के शेडहोल में कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली को संबोधित किया। लेकिन रैली में आयोजको के पसीने तब छूट गए जब रैली स्थल पर भीड़ नहीं जुटी और मैदान खाली रह गया।

BJP की जनसभा में खाली रही कुर्सियां, कांग्रेस बोली- बीजेपी की दुर्दशा जारी है, आज स्मृति ईरानी की बारी है

तभी प्रधानमंत्री की रैली में भीड़ जुटाने की इस चुनौती के मध्यनज़र आयोजको ने गांव-गांव जा कर खुद लोगों को रैली स्थल तक लाना शुरू किया कर दिया।

लेकिन भीड़ जुटाने की इस जल्दबाजी में आयोजको ने स्कूली बच्चों को भी नहीं छोड़ा। और चलती क्लास के बीच से ही बच्चों को रैली स्थल पर लाकर खाली दिख रहे मैदान को ढक दिया।

4 साल तक रवीश कुमार को इंटरव्यू ना देने वाले ‘मोदी’ कांग्रेस से मुकाबले की बात कर रहे है : सोशल

दरअसल प्रधानमंत्री की रैली में खाली रैली स्थल भी मीडिया की सुर्खियां बन सकता है इसका अंदाज़ा लगाते हुए आयोजको ने इस मैदान को भरने का एक यह अलग तारिका निकाला।

इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि, बच्चों को चलती क्लास के बीच से रैली की भीड़ बना देने वाली इस घटना की खबर भी आपको देश के निष्पक्ष अखबारों और वेबसाइटों में नहीं मिलेगी