विवादित संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ़ देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी हैं। देश की कई जानी-मानी हस्तियों से लेकर छात्र तक इस कानून के विरोध में सड़कों पर हैं। सुप्रीम कोर्ट के कई वकील भी इस कानून के विरोध में लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

मंगलवार को एक बार फिर सुप्रम कोर्ट के वकीलों ने कानून के विरोध में प्रदर्शन किया।
वकीलों ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA), राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट से जंतर मंतर तक शांतिपूर्ण विरोध मार्च निकाला। इस दौरान वकीलों ने नागरिकता कानून को संविधान विरोधी बताते हुए इसे वापस लिए जाने की मांग की।
पिछले हफ्ते भी सुप्रीम कोर्ट के वकीलों ने कोर्ट परिसर में नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन किया था। ये प्रदर्शन तकरीबन 50 वकीलों ने संविधान की प्रस्तावना पढ़कर किया था।
वकीलों द्वारा संविधान की प्रस्तावना पढ़े जाने का उद्देश्य संविधान के मूल्यों और सिद्धांतों को याद कराना था। वकीलों के मुताबिक, मोदी सरकार द्वारा लाया गया नागरिकता कानून संविधान के मूल्यों और सिद्धांतों के ख़िलाफ़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here